अजमेर। राजकीय कन्या महाविद्यालय अजमेर की छात्र संघ अध्यक्ष ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व पदाधिकारियों पर दुराचार के प्रयास का आरोप लगाते हुए अदालत में इस्तगासा पेश किया है। इस्तगासे के आधार पर अदालत ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं।

प्रार्थिया की ओर से प्रस्तुत परिवाद में बताया कि वह वर्तमान में छात्रा संघ अध्यक्ष के पद पर कार्यरत है। एबीवीपी के पूर्व महानगर सहमंत्री सीताराम चौधरी, वर्तमान महानगर मंत्री हंसराज चौधरी, तत्कालीन प्रदेश सहमंत्री चन्द्रभान गुर्जर, चैनाराम चौधरी, रामकिशोर सारण व महेन्द्र चौधरी पर उसके साथ अभद्रता व दुव्र्यव्हार करने आरोप लगाया है। आरोपितों के खिलाफ छेड़छाड़ व दुराचार का प्रयास करने जैसे गंभीर आरोप लगाए गए हैं।

प्रकरण के तथ्य

पीडि़ता ने इस्तगासे में आरोप लगाए कि आरोपितों ने उसे कई बार अकारण ही हाथी भाटा स्थित कार्यालय पर जबरन बुलाने व उसे मोबाइल पर अश्लील मैसेज भेजने के आरोप लगाए। आरोपियों पर मोटरसाईकिल पर प्रार्थिया का पीछा करने व संबंध बनाने का दबाव डालने के आरोप भी लगाए गए हैं। आरोपितों पर पीडि़ता के फोटो व मोबाइल डेटा चुराने के भी आदेश लगाए।

31 दिसम्बर 2015 को आरोपितों ने राजनीतिक बातचीत के लिए उसे छात्रावास के पीछे एकांत में ले जाने व आरोपितों की ओर से जबरदस्ती का प्रयास करने का भी आरोप लगाया। आरोपितों के चुंगल से भाग कर वह घर आई।

आरोपितों पर पीडि़ता/प्रार्थिया से 8 हजार रुपए रकम भी एेंठने का आरोप लगाया गया। आरोपितों पर शाीरिक व आर्थिक शोषण करने व रिपोर्ट लिखाने पर धमकी देने के आरोप लगाए हैं। अदालत ने इस्तगासा जांच के लिए संबंधित थाने को भेजने के आदेश दिए।  (Rajasthan Patrika)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें