तरनतारन, [धर्मवीर सिंह मल्हार]। जिले के गांव तुड़ में पूर्व अकाली सरपंच ने मानवता को शर्मसार करते हुए अपने बेटों की मदद से एक दलित किशोरी को हथियारों के बल पर घर से उठा लिया। फिर उसे बेरहमी से पीटा तथा नग्न कर वीडियो बना डाली। घटना विधानसभा क्षेत्र खडूर साहिब के गांव तुड़ की है।

पूर्व अकाली सरपंच जोगिंदर सिंह की बेटी सोमवार दोपहर पड़ोस के एक घर में अपने दोस्त से मिलने गई। इसका पता जब जोगिंदर सिंह को चला तो वह अपने बेटों भिंदा व बब्बो के साथ वहां पहुंचा। उन्हें देखकर उसकी बेटी अपने दोस्त के साथ भाग गई। उस घर में कुछ बच्चे एक कमरे में टीवी देख रहे थे। पूर्व सरपंच ने बेटों से कहा कि यहां जिनके बच्चे हैं उनकी माताओं व बहनों को सबक सिखा दो।

पड़ोसी के घर दोस्त से मिलने गई पूर्व सरपंच की बेटी भागी तो किशोरी पर फूटा गुस्सा

बाद दोपहर पूर्व सरपंच बेटों के साथ पड़ोसी के घर पहुंचा। घर का दरवाजा नहीं खुला तो कृपाणों से घर का दरवाजा तोड़ दिया। वहां से उसकी 14 साल की बेटी को बालों से घसीटते हुए अपने घर ले गए। इस पर लोग इकट्ठा हो गए। सभी के सामने पूर्व सरपंच व उसके बेटों ने किशोरी को नग्न कर बेरहमी से पीटा। भिंदा बेल्ट से लड़की को पीटता रहा, जबकि बब्बो मोबाइल से वीडियो बनाता रहा। दहशत के कारण किसी ने भी लड़की को छुड़ाने की हिम्मत नहीं की।

05_04_2016-05beatengirl

मामले की सूचना जब पास के गांव चक्क माहिर में पहुंची तो वहां के वहां के प्रमुख लोगोें ने आकर किशोरी को उनके चंगुल से छुड़वाया। दहशत के चलते दो परिवारों ने अपने बच्चे रिश्तेदारों के पास भेज दिए। पीडि़त परिवार ने मामले की शिकायत जब थाना श्री गोइंदवाल साहिब में की तो थाना प्रभारी ने सियासी दखलअंदाजी के चलते पीडि़त परिवार को राजीनामा करने का सुझाव दिया।

एक अन्य के अपहरण का भी प्रयास

पूर्व सरपंच के लड़कों ने मंगलवार सुबह भी गांव की एक लड़की का अपहरण करने की कोशिश की। लड़की का पिता पहले ही इन लोगों की पिटाई का शिकार हो चुका है। इस पर उसने अपने बेटे को किसी अज्ञात स्थान पर भेज दिया।

डीएसपी से मांगी है तुरंत रिपोर्ट : एसएसपी

एसएसपी मनमोहन कुमार शर्मा ने कहा कि मामला आज ही ध्यान में आया है जो काफी गंभीर है। थाना श्री गोइंदवाल साहिब के प्रभारी को आदेश दिए हैं कि वह पीडि़त परिवार के बयान लेकर कानूनी कार्रवाई करें। डीएसपी (डी) सतपाल सिंह से तुरंत रिपोर्ट मांगी गई है। अगर थाना प्रभारी की लापरवाही मिली तो बख्शा नहीं जाएगा।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने लिया मामले का कड़ा संज्ञान

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष डां. राजकुमार वेरका ने कहा कि थाना प्रभारी की पूरे मामले में भूमिका संदिग्ध लगती है। तरनतारन में ऐसी घटनाएं समाज पर कलंक हैं। पूर्व सरपंच और उसके बेटों की शर्मनाक हरकत संबंधी डीसी और एसएसपी से लिखित रिपोर्ट मांगी गई है। जरूरत पड़ी तो पंजाब सरकार को भी तलब करेंगे।

अकालियों के शासन में दलितों पर अत्याचार जारी : सिक्की

खडूर साहिब के पूर्व विधायक रमनजीत सिंह सिक्की ने कहा कि गांव तुड़ की घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है। इसके लिए अकाली सरकार भी जिम्मेदार है। पीडि़त परिवार की थाना प्रभारी द्वारा सुनवाई न करने से मालूम होता है कि पूर्व सरपंच के पीछे सियासी नेता खड़े होकर उसे बचाना चाहते हैं। (jagran.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें