spelling-mistake-on-smriti-iranis-letterhead

दिल्ली की स्थानीय अदालत ने दिल्ली चुनाव आयोग को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की शैक्षणिक योग्यता से संबंधित रिकॉर्ड लाने का आदेश दिया है.

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट हरविंदर सिंह ने निर्देश जारी कर चुनाव आयोग से मूल दस्तावेज रिकॉर्ड लाने को कहा गया था क्योंकि शिकायतकर्ता का आरोप था कि 2004 में चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए आयोग के समक्ष दाखिल स्मृति के हलफनामे में उन्हें स्नातक बताया गया था.

पिछले साल नवंबर को फ्रीलांस लेखक और फरियादी अहमर खान ने इस मामलें में अदालत में याचिका दाखिल की थी. जिससे अदालत ने स्वीकार कर लिया था. शिकायती ने दावा किया था कि स्मृति ने जानबूझकर 2004, 2011 और 2014 में चुनाव आयोग के समक्ष दाखिल अपने हलफनामों में अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में भिन्न-भिन्न जानकारी दी थी.

याचिका में चुनाव आयोग और दिल्ली विश्वविद्यालय के अधिकारियों को स्मृति की योग्यता से संबंधित रिकॉर्ड लाने का निर्देश देने की मांग की गयी थी. खान ने कहा था कि वह उन कागजों को अदालत के समक्ष पेश नहीं कर सके.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें