भोपाल की सेंट्रल जेल में बंद कथित सिमी सदस्यों का फिर से एनकाउंटर किया जा सकता है. ये आरोप परिजनों का हैं. उनका कहना है कि उनके साथ जेल में मारपीट की जा रही है. उन्हें एनकाउंटर करने की धमकियाँ दी जा रही है. परिजनों ने  सुप्रीम कोर्ट से संज्ञान लेकर हस्तक्षेप करने की मांग की है.

परिजनों का कहना है कि जेल में सिमी सदस्य होने के आरोप में इस वक़्त जेल में 22 मुस्लिम नौजवान बंद में है. सभी आरोपियों को रोजाना डंडे और लाठियों से पिटा जाता है. इस दौरान उनकी धार्मिक आस्थाओं को चोट पहुँचाने के लिए इस्लाम के खिलाफ अपमानजनक शब्द बुलवाए जाते है.

और पढ़े -   गुजरात: फिर सामने आया ऊना कांड, दलित युवक और महिला की नग्न कर पिटाई

परिजनों का कहना है कि उनसे जय श्री राम के नारे लगाने को भी कहा जाता है. जब वह ऐसे नहीं करते हैं तो उन्हें और बुरी तरह से पीटा जाता है. उनका कहना कहना है किउन्हें किसी भी दिन फर्जी मुठभेड़ में मारे जाने की धमकी दी जा रही है.

उनसे कहा जा रहा है कि अब सरकार हमारी है. हम चाहे जो कर सकते है. गौरतलब है कि पिछले साल भोपाल में एक कथित पुलिस मुठभेड़ में जेल से भागने के कथित आरोप में सिमी से सबंध रखने के आरोपयों में मार गिराया था.

और पढ़े -   गोरखपुर मामले में एक पिता का दर्द - स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ पुलिस ने नहीं की शिकायत दर्ज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE