पटना बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं. उन्होंने खुद की पार्टी भाजपा के बिहार में जंगलराज की वापसी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है.

भाजपा के

भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों की ओर से बिहार में कथित जंगलराज फिर से आ जाने का आरोप बार-बार लगाए जाने पर पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि छोटी सी अवधि में किसी सरकार का प्रदर्शन आंकने का यह कोई तरीका नहीं है.

और पढ़े -   जानिए: चांद खान के बारे में, जो हर साल घर पर लहराते है तिरंगा

सिन्हा ने शुक्रवार को कहा कि इतने कम समय में किसी सरकार के काम को आंका नहीं जा सकता. बिहार की नई सरकार का तो हनीमून पीरियड भी अभी खत्म नहीं हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बिहार विधानसभा चुनावों के प्रचार अभियान से खुद को दूर रखने वाले सिन्हा ने सवाल दागा कि दिल्ली और महाराष्ट्र में क्या हो रहा है? दिल्ली में कानून-व्यवस्था केंद्र सरकार के जिम्मे है जबकि महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना गठबंधन की सरकार है.

और पढ़े -   गोरखपुर: मृतक बच्चों के शवों को ले जाने के लिए एम्बुलेंस तक नहीं दे पाई योगी सरकार

सिन्हा ने कहा कि नकारात्मक राजनीति कभी सफल नहीं होती. मैं नकारात्मक राजनीति का हिमायती नहीं हूं.

इससे पहले, भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने बिहार में हाल में घटी आपराधिक घटनाओं के बाद जंगलराज-2 का नारा दिया था. केंद्रीय मंत्री और लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी बिहार में बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला था.

और पढ़े -   एक लाख से ज्यादा डिलेवरी करवाने वाली 'डॉक्टर दादी' का हुआ निधन

हालिया विधानसभा चुनाव के दौरान कई बार भाजपा के लिए शर्मिंदगी का सबब बन चुके सिन्हा ने अफसोस जताते हुए कहा कि अब तक हार पर गंभीर आत्ममंथन नहीं किया गया है. वाजपेयी की अगुआई वाली केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके सिन्हा ने कहा कि बीमारी के इलाज के बगैर हम पूरी ताकत से आगे कैसे बढ़ पाएंगे? न्यूज़ 18


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE