विजयवाड़ा सियाचिन हिमस्खलन में शहीद हुए जवान मुश्ताक अहमद के पार्थिव शरीर को मंगलवार को आंध्र प्रदेश में उनके पैतृक गांव पर्नापल्ली में पूरे सैन्य सम्मान के साथ सुपुर्दे खाक कर दिया गया। इससे पहले आंध्र प्रदेश के उप मुख्यमंत्री के ई कृष्णमूर्ति और विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने शहीद जवान को श्रद्धांजलि अर्पित की।

बड़ी संख्या में ग्रामीण शहीद जवान की अंतिम यात्रा में शामिल हुए और उनको सुपुर्दे खाक किए जाने के समय वहां मौजूद रहे। कृष्णामूर्ति ने अहमद के परिवार वालों से मुलाकात की और उन्हें 25 लाख रुपये का चेक सौंपा। आंध्र प्रदेश सरकार ने सोमवार को अहमद के परिजन को 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का फैसला लिया था।

 सिपाही मुश्ताक अहमद

मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू की अध्यक्षता में आयोजित राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया था। मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से पूर्व में प्राप्त विज्ञप्ति के अनुसार अहमद के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी।

आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले से संबंध रखने वाले अहमद उन दस सैनिकों में थे जिनका इस महीने की शुरुआत में हिमस्खलन के कारण निधन हो गया था। कल शाम उनके पार्थिव शरीर को कुरनूल स्थित उनके पैतृक गांव पर्नापल्ली लाया गया था। (नवभारत टाइम्स)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें