इलाहाबाद। इलाहाबाद की एसीजेएम -8 की अदालत में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हुआ है। राहुल गांधी के खिलाफ आईपीसी की धारा 124, 124 A, 500 और 511 में केस दर्ज हुआ है। राहुल गांधी के खिलाफ जेएनयू के आरोपियों के समर्थन में बयान देने व सभा करने को लेकर केस दर्ज किया गया है।

अदालत ने आज सुनवाई के बाद केस दर्ज किए जाने की अर्जी मंजूर की। अर्जी पर अदालत ने कल जजमेंट रिजर्व रख लिया था।  इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील और बीजेपी नेता सुशील मिश्र ने यह अर्जी दाखिल की है।  एक मार्च से इस मामले की सुनवाई होगी।

अदालत सबसे पहली याचिकाकर्ता का बयान लेगी और उसके बाद दो गवाहों का बयान लेगी। ज़रूरत पड़ने पर कोर्ट राहुल गांधी को भी तलब कर सकती है। अर्जी में कहा गया था कि राहुल गांधी ने आरोपियों का समर्थन कर देशद्रोह का काम किया है।

if-he-really-feels-sad-then-why-is-there-no-action-taken-against-the-vcराहुल गांधी के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किये जाने मांग को लेकर दाखिल की गई अर्जी पर इलाहाबाद की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने कल अपना जजमेंट रिजर्व कर लिया था।

राहुल गांधी के खिलाफ यह अर्जी इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील और बीजेपी नेता सुशील मिश्र की तरफ से दाखिल की गई है। अर्जी में कहा गया है कि राहुल गांधी ने देशद्रोह के आरोपियों के समर्थन में बयान देकर और जेएनयू कैम्पस में सभा कर खुद भी देशद्रोह का काम किया है। अर्जी में राहुल गांधी के खिलाफ आईपीसी की धारा  124, 124 A, 500 और 511 के तहत कोर्ट में केस दर्ज कर उनके खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की गई थी।

अर्जी दाखिल करने वाले वकील सुशील मिश्र ने अपनी दलील के समर्थन में तमाम मीडिया रिपोर्ट्स को आधार बनाया है। उन्होंने पेपर कटिंग्स के साथ ही न्यूज़ चैनलों की वीडियो क्लिपिंग भी कोर्ट में पेश की है।  (eenaduindia)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें