नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी सरकार ने गुजरात में अल्पसंख्यकों को दी जाने वाली स्कॉलरशिप में बड़ी कटौती की है। पिछले एक साल में ये काम बड़े स्तर पर किया गया है।

बुधवार को गुजरात विधानसभा में विपक्षी दल कांग्रेस द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री रमनलाल वोरा ने ये जानकारी दी।

रमनलाल वोरा के मुताबिक, साल 2014-15 में गुजरात सरकार ने केन्द्र से कुल 123.3 करोड़ रुपए की मांग की। ये राशि प्री-मेट्रिक, पोस्ट-मेट्रिक और मेरिट कम स्कॉलरशिप के तहत अल्पसंख्यक छात्रों को दी जानी थी लेकिन सरकार ने सिर्फ 86 करोड़ रुपए ही दिए।
इस तरह 2015-16 में भी केंद्र सरकार ने भीषण कटौती की। गुजरात सरकार ने केन्द्र सरकार से 47.8 करोड़ रुपए की मांग की थी लेकिन मिले सिर्फ 51.8 लाख रुपए। (Live India)
और पढ़े -   हज सब्सिडी को अल्पसंख्यक समुदाय की शिक्षा और विकास में लगाया जाना चाहिए: अहमद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE