स्योहारा (बिजनौर)| मुस्लिम शादियों में गाना बजाना, आतिशबाजी जैसी खुराफातो के खिलाफ़ स्योहारा के आलिमो की एक मीटिंग नगर की जामा मस्जिद में हुई जिसमे बस्ती के सभी  मुफ्तियों/मोलानाओ/हाफिजो व कारियो के साथ साथ नगर के तमाम मुस्लिमो ने हिस्सा लिया।
16 फरवरी की रात ईशा की नमाज़ के बाद मीटिंग की सदारत मोलाना मोहम्मद कामिल अंसारी शहर ईमाम स्योहारा और निजामत मोलाना इम्तियाज अहमद कासमी ईमाम जामा मस्जिद स्योहारा ने की। मीटिंग का आगाज़ कारी मोहम्मद हारून की तिलावते कुरआन से हुआ तमाम इमामों ने अपनी अपनी राय पेश की और कहा की मुस्लिम शादी ब्याह में जो आज फिजूल खर्ची हो रही है उसे बंद होना चाहिए आज शादी में डीजे डांस/खड़े होकर खाना पीना/फोटो ग्राफी/वीडियो फिल्म बनवाना/कव्वाली व गाना बजाना आतिशबाजी करना व मंडा मनाना औरत मर्द का एक साथ खाना खाना बेहद शर्मनाक है और इन सभी रस्मो को बंद होना चाहिए।
 इसी के तहत ये मीटिंग हो रही है और इसमें हम सभी ने ये तय किया है की जिस शादी में ये होता हुआ देखेंगे उस शादी में ना खाना खायेगे और ना ही निकाह पढायेगे मीटिंग में शामिल लोगो में शहर के तमाम ईमामो के अलावा हाज़ी खालिद/डाक्टर महमूद/डाक्टर साबीर/माहिर स्योहारवी/मास्टर तसलीम/मास्टर माजिद/व जामा मस्जिद के सदर वकील अहमद उर्फ़ बबन ठेकेदार के अलावा नगर के और भी कई लोगो ने शिरकत की। (upuklive)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें