rss

मद्रास हाईकोर्ट ने आरएसएस को विजयदशमी के अवसर पर तमिलनाडु में रैलियों में फुल पैंट (पतलून) पहनने का आदेश दिया हैं. कोर्ट ने आदेश दिया है कि RSS के लोग उन हाफ पैंटों को पहनकर जुलूस नहीं निकाल सकते, जिन्हें वे पिछले नौ दशक से पहनते आ रहे हैं.

विजयादशमी के मौके पर आरएसएस ने राज्यभर में 14 जुलूस आयोजित करने का फैसला किया है. ऐसे में पुलिस ने इकानून एवं व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने की आशंका जताते हुए जुलूसों को अनुमति देने से इंकार कर दिया था. जिसके बाद कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि आरएसएस जुलूस तभी निकाल सकती है जब वे फुल पैंट पहनें.

और पढ़े -   साध्वी प्राची ने मुस्लिमों के खिलाफ फिर उगला जहर, कहा - एक बेटी के बदले दस बेटियां उठा लाओ

चेन्नई सिटी पुलिस एक्ट के मुताबिक जिन जुलूसों में शिरकत करने वालों की पोशाक सशस्त्र बलों या पुलिस की वर्दी से मिलती-जुलती हो वैसे जुलूसों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है. और आरएसएस कार्यकर्ताओं की सफेद कमीज़ तथा खाकी नेकर वाली वर्दी राज्य पुलिस की ट्रेनिंग के दौरान पहनी जाने वाली वर्दी जैसी है.

ऐसे में अब आरएसएस कार्यकर्ताओं को हाफपैंटों (नेकरों) को त्याग कर फुल पैंट (पतलून) ही पहनना होगा. हालांकि आरएसएस ने इस मुद्दे पर राज्य में सत्तारुढ़ AIADMK और प्रमुख विपक्षी पार्टी DMK पर राजनीति करने का आरोप लगाया है.

और पढ़े -   हिजाब पहन कर दे सकती हैं मुस्लिम छात्राएं AIIMS की प्रवेश परीक्षा: केंद्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE