ark

महाराष्ट्र के नांदेड में रविवार 27 नवम्बर को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने आरक्षण की मांग को लेकर एक विशाल शांति मार्च निकाला इसमें समुदाय के 5 लाख से ज्यादा लोग शामिल हुए. ये शांति मार्च मुस्लिम आरक्षण संघर्ष कृति समिति के बैनर तले निकाला गया.

सुबह 11:30 बजे न्यू मोंढ़ा से शुरू हुई यह रैली आईटीआई चौक, शिवाजी नगर फ्लाईओवर, कलामंदिर, वजीराबाद चौक से होते हुए दोपहर 3:30 बजे शिवाजी पुतला पहुँची. शहर में 4 किमी का सफ़र करने के बाद संगठन के प्रतिनिधियों ने नांदेड जिला के कलेक्टर सुरेश ककानी को ज्ञापन सौंप कर आरक्षण की मांग की.

और पढ़े -   सहारनपुर कांड को लेकर दलितों ने दी योगी सरकार को बौद्ध धर्म अपना लेने की धमकी

ज्ञापन में मुसलमानों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण की मांग के साथ अन्य मांगें जैसे पर्सनल लॉ में हस्तक्षेप न करने, गौरक्षा के नाम पर मुसलमानों और दलितों के ऊपर हो रहे हमलों को रोकने, मुसलमानों को आतंक के आरोप में न फ़साने, स्वामीनाथन आयोग को लागू करने और अन्य पिछड़ा वर्ग आरक्षण को छेड़े बिना मराठा आरक्षण की तरह आरक्षण देने की मांग की गई.

और पढ़े -   डाक से भेजी गई लिखित तलाक को केरल की अदालत ने गैर इस्लामिक बताकर किया खारिज

आयोजकों के मुताबिक इस रैली में लगभग 5।5 लाख लोगों ने हिस्सा लिया जिनमें बच्चे, युवा और बूढ़े सभी शामिल थे. अपने तरह की इस पहली रैली में कई मराठा और दलित नेताओं ने भी हिस्सा लिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE