लखनऊ। नये साल की पहली रात को कुछ दरिंदों ने ताजनगरी आगरा को कलंकित कर दिया। आगरा के फतेहपुर सीकरी में एक जनवरी की रात कुछ दरिदों ने रुह कंपा देने वाले दर्जे की घिनौनी हरकत की।

इन लोगों ने कब्र से महिला का शव निकालकर उससे दुष्कर्म किया।इस घटना की जानकारी होते ही कस्बे में सांप्रदायिक तनाव फैल गया। करीब आठ घंटे तक हंगामा चला। दोपहर बाद शव को दोबारा दफनाया गया। फोरेंसिक टीम ने जांच को स्लाइड लिए हैं।

फतेहपुर सीकरी के मुहल्ला दो हिस्सा के माजिद खान की पत्नी 42 वर्षीय नाजनीन (दोनों नाम काल्पनिक) दस दिन पहले सादाबाद में अपने मायके गई थीं। परसों उनकी अचानक तबियत खराब हुई। स्थानीय चिकित्सकों की दवा से राहत न मिलने पर उन्हें परिजन एसएन इमरजेंसी ले गए, जहां उनकी मौत हो गई। शाम चार-पांच बजे उनके परिवार के लोगों ने कस्बे लाकर कब्रिस्तान में शव को दफना दिया। कल सुबह सात बजे नाजनीन का बड़ा बेटा सलमान कब्र पर फूल चढ़ाने गया, तो कब्र खुदी हुई मिली। शव के ऊपर डाले गए कपड़े भी अस्त-व्यस्त थे। उन्होंने परिवार के लोगों को बुलाने के बाद पुलिस को सूचना दी।

माजिद के परिजनों ने दिल्ली में अपने मौलवियों से बात की। उन्होंने बताया कि दोबारा गुस्ल (नहलाना) कराने के बाद नया कफन लाकर फिर से शव को दफनाया जाए। नजमा के शव को निकालने से परिवार की एक महिला को कब्र में उतारा गया, तो शव के साथ छेड़छाड़ की बात सामने आई। शव के पैर मुड़े थे। कब्र में ही एक युवक की पैंट और शराब की खाली बोतल पड़ी थी। शव की हालत देखकर दुष्कर्म की आशंका जताई गई। उधर अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने दूसरे संप्रदाय के लोगों पर घिनौनी हरकत करने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया।

सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बनने पर पुलिस फोर्स और पीएसी के साथ एसडीएम खेरागढ़ एमपी सिंह और सीओ अछनेरा विजय कुमार सिंह पहुंच गए। उन्होंने समझाकर लोगों को हाईवे से हटाया। पुलिस की फील्ड यूनिट टीम मौके पर पहुंची। फोरेंसिक टीम ने मौके का निरीक्षण किया और शव से दुष्कर्म की जांच को सैंपल लिए। डॉग स्क्वायड कब्रिस्तान में ही भटक गया। कई घंटे तक पोस्टमार्टम कराने को लेकर बातचीत चलती रही। दिल्ली के मौलवियों ने पोस्टमार्टम कराने को इन्कार कर दिया। शाम तीन बजे शव को दोबारा गुस्ल कराके दफना दिया। माजिद खान ने थाना फतेहपुर सीकरी में अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। इसमें घिनौनी हरकत करने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने बताया कि तहरीर के मुताबिक मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

कब्र में छोड़ गया सुबूत

फतेहपुर सीकरी में कब्र खोदकर शव से दुष्कर्म करने वाला वहशी कब्र में ही सुराग छोड़ गया। मौके पर पड़े मिले पैंट से निकले कागज के टुकड़े के आधार पर पुलिस उसकी तलाश कर रही है। देर रात पुलिस ने एक संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। पुलिस ने कब्र में मिले पैंट को चेक किया, तो उसमें एक कागज का टुकड़ा मिल गया। इसमें क्या लिखा है। यह पुलिस ने गोपनीय रखा है, मगर इस कागज के टुकड़े से ही पुलिस आरोपी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। रात में पुलिस ने आसपास के इलाके से ही एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ की, मगर देर रात तक उसने घटना के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी।

कानून की किताब के पन्ने पलटती रही पुलिस

कब्रिस्तान में घिनौनी हरकत की घटना के संबंध में परिवार के लोग तहरीर देने थाने पर पहुंच गए, तो पुलिस यह तय नहीं कर पा रही थी कि मुकदमा किन धाराओं में दर्ज हो। पुलिस ने आइपीसी खंगाली। कई बार तहरीर लिखकर फाड़ी गई। अंत में आइपीसी की धारा 297 (कब्रिस्तानों आदि में अतिचार करना) और 295 क (विमर्शित और विद्वेषपूर्ण कार्य, जो किसी वर्ग के धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करके उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए किया गया हो) में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

मायके वाले पहुंचे अलीगढ़ एसएसपी ऑफिस

महिला के मायके वाले वर्तमान में अलीगढ़ के सादाबाद के व्यापारियान में रहते हैं। कल जानकारी होने के बाद कोल विधायक जमीन उल्लाह खां के साथ अलीगढ़ में एसएसपी ऑफिस पहुंच गए। विधायक ने आइजी डीसी मिश्र से फोन पर बात कर इस मामले में कार्रवाई को कहा। साभार: jagran.com


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें