बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में हुए बम धमाके में रांची के एक युवक सैयद तौसीफ अहमद खुशनसीब रहे. तौसीफ की मां सुफिया का कहना है कि न्यूयॉर्क होते हुए ब्रसेल्स पहुंचे थे. तौसीफ से महज दस मीटर की दूरी पर बम धमाके हुए थे. मीडिया से मिली ख़बर के बाद तौसीफ के घर वाले काफी परेशान थे. करीब दो घंटे बाद उनसे बातचीत हो सकी और फिर राहत की सांस ली.

ब्रसेल्स धमाके में बाल-बाल बचे तौसीफ, बोले- मुझसे 10 मीटर की दूरी पर हुआ विस्फोट

परिजनों को इंतजार

सुफिया के अनुसार तौसीफ अभी भी ब्रसेल्स में फंसे हैं. एसरपोर्ट बंद है. इस कारण कब आएंगे, यह किसी को नहीं पता. कडरु मोहल्ले के निवासी तौसीफ अहमद गुड़गांव के एक निजी कंपनी के कर्मचारी हैं.

तौसीफ की मां सुफिया अहमद के अनुसार उनके पुत्र अक्सर ऑफिसियल टूर पर रहते हैं. उसके घर वाले तौसीफ की वतन वापसी की बेसब्री से इंतेज़ार कर रहे हैं. उन्होने आंतकी घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है.

मालूम हो कि बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के जेवेंतम हवाईअड्डे पर दो जबरदस्त विस्फोट हुए थे. इसमें एक आत्मघाती विस्फोट बताया जा रहा है. इसके अलावा तीसरा विस्फोट ब्रसेल्स शहर के बीच एक मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन के डिब्बे में हुआ. इन तीनों विस्फोटों में कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा एक भारतीय महिला समेत 170 से अधिक लोग घायल हैं. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी लेते हुए यूरोप में ऐसे ही और हमले करने का ऐलान किया है. हवाईअड्डे पर हुए दो विस्फोटों में कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें