rahul-gandhi-in-darul-uloom_1475693906

देवबंद/सहारनपुर– दारुल उलूम पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उलेमा से मुलाकात कर इस्लाम जानने की इच्छा जाहिर की। इस दौरान उलेमा ने उनके ही सवाल पर कहा कि पिछले दो दशकों से दारुल उलूम में विदेशी छात्रों को प्रवेश के लिए केंद्र सरकारों ने वीजा पर रोक लगा रखी है। उलेमा-ए-कराम ने गांधी खानदान के दारुल उलूम से संबंधों का जिक्र भी किया।

राहुल गांधी से बातचीत के दौरान उलेमा-ए-कराम ने मौजादा वक्त में हिन्दू-मुस्लिम एकता पर बल दिया। साथ ही दोनों वर्गों के बीच बढ़ रही दूरियों पर चिंता व्यक्त की।

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक दारुल उलूम गेस्ट हाउस में संस्था के उलेमा-ए-कराम से वार्ता करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोहतमिम मौलाना अबुल कासिम नोमानी से मुखातिब होते हुए उनसे इस्लाम मजहब की जानकारी की इच्छा जाहिर की। कहा कि संस्था उनके लिए एक ऐसा आलिम मुहैया कराए जो उन्हें इस्लाम के बारे में समझा सके।

राहुल ने अपने पिछले दौरे का जिक्र करते हुए पूछा कि क्या विदेशों से आने वाले तलबा के वीजा संबंधी समस्यायों का हल हुआ। इस पर मोहतमिम ने कहा कि पिछले दो दशकों से केंद्र में जो भी सरकार रही है उसने उनकी मांग पर कभी ध्यान नहीं दिया। राहुल ने उलेमा-ए-कराम को आश्वस्त किया कि वह शीघ्र ही इस समस्या का अपने स्तर से हल कराएंगे।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें