rahul-gandhi-in-darul-uloom_1475693906

देवबंद/सहारनपुर– दारुल उलूम पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उलेमा से मुलाकात कर इस्लाम जानने की इच्छा जाहिर की। इस दौरान उलेमा ने उनके ही सवाल पर कहा कि पिछले दो दशकों से दारुल उलूम में विदेशी छात्रों को प्रवेश के लिए केंद्र सरकारों ने वीजा पर रोक लगा रखी है। उलेमा-ए-कराम ने गांधी खानदान के दारुल उलूम से संबंधों का जिक्र भी किया।

और पढ़े -   वीडियो - छेड़खानी का आरोप लगाकर बजरंग दल के गुंडों ने मुस्लिम लड़कों को किया लहूलुहान

राहुल गांधी से बातचीत के दौरान उलेमा-ए-कराम ने मौजादा वक्त में हिन्दू-मुस्लिम एकता पर बल दिया। साथ ही दोनों वर्गों के बीच बढ़ रही दूरियों पर चिंता व्यक्त की।

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक दारुल उलूम गेस्ट हाउस में संस्था के उलेमा-ए-कराम से वार्ता करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोहतमिम मौलाना अबुल कासिम नोमानी से मुखातिब होते हुए उनसे इस्लाम मजहब की जानकारी की इच्छा जाहिर की। कहा कि संस्था उनके लिए एक ऐसा आलिम मुहैया कराए जो उन्हें इस्लाम के बारे में समझा सके।

और पढ़े -   मिलिए मकबूल अहमद से जो 300 गरीब लोगों को कराते है रोजाना निशुल्क भोजन

राहुल ने अपने पिछले दौरे का जिक्र करते हुए पूछा कि क्या विदेशों से आने वाले तलबा के वीजा संबंधी समस्यायों का हल हुआ। इस पर मोहतमिम ने कहा कि पिछले दो दशकों से केंद्र में जो भी सरकार रही है उसने उनकी मांग पर कभी ध्यान नहीं दिया। राहुल ने उलेमा-ए-कराम को आश्वस्त किया कि वह शीघ्र ही इस समस्या का अपने स्तर से हल कराएंगे।

और पढ़े -   2000 दलितों ने दी इस्लाम अपनाने की धमकी, हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को नाले में बहाया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE