say

कोटा शहर काजी अल्हाज अनावर अहमद की सरपरस्ती में कोटा शहर की विभिन्न सामाजिक संगठनों ने भोपाल में हुए फर्जी एनकाउन्टर के खिलाफ 3 नवम्बर को मौन जुलुस निकाल कर जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया था.

शहर काजी अल्हाज अनावर अहमद ने एक बार फिर से भोपाल एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इसकी न्यायिक जांच सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान जज से कराए जाने की मांग की हैं. इसके अलावा उन्होंने दोषी पुलिस व जेल अधिकारियों पर कार्यवाही करने व मध्यप्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग भी की हैं.

और पढ़े -   झारखंड हत्याकांड - पुलिस के सामने ही की थी नईम की हत्या, बचाने के बजाय तमाशबीन बनी रही

शहर काजी ने भोपाल फर्जी एनकान्टर पर दुख जाहिर करते हुए कहा कि आज मानवता का कत्ल किया जा रहा है जिस तरह इस पूरी घटना में 9 लोगों को मारा गया उसकी सुप्रीम कोर्ट के जजों की बेंच से न्यायिक जांच होनी चाहिए और दोषियों पर कार्यवाही की जानी चाहिए जिससे मानवता और मानव धर्म का कत्ल होने से रोका जा सकें

और पढ़े -   "किस शाखा में भाजपाइयों को ISI का जासूस और देह व्यापार की ट्रेनिंग दी जाती है"

say1

कोटा के वरिष्ठ एडवोकेट मोहनलाल राव ने अपने संबोधन में भोपाल एनकाउन्टर को फर्जी करार देते हुए कहा कि पूरी घटना में जिस तरह से मनगढंत कहानी रची गई और सोची समझी रणनीति के तहत इस फर्जी एनकाउन्टर को अंजाम दिया गया जिसमें राजनीतिक लाभ लेने व वोटों के धु्रवीकरण करने के लिए एक बहादुर सिपाही रमाशंकर यादव को भी इन्होने अपनी रणनीति का मोहरा बनाया. मोहनलाल राव ने जेल में हुई रमाशंकर यादव की मौत व फर्जी एनकाउन्टर की निष्पक्ष जांच की मांग की जिससे दोषियों को कडी से कडी सजा मिल सकें.

और पढ़े -   अब किसानों ने दी सीएम योगी को मांगें न मानने पर आत्मदाह की धमकी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE