देहरादून – रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे अत्याचार को लेकर दुनियाभर में विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है, जहाँ पश्चिमी देशों में रोहिंग्या मुस्लिम पर हिंसा को रोकने की तुरंत मांग की जा रही है वहीँ भारत में भी बड़े पैमाने पर लोग सड़कों पर उतरकर अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे है.

उत्तर प्रदेश के कई स्थानों के बाद बुधवार को उत्तराखंड के देहरादून में हजारों लोगो ने सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया, म्यांमार सरकार व सेना प्रताड़ित रोहिंग्या मुस्लिमों के लिए दून के मुस्लिम समुदाय के हजारों लोगों ने बुधवार को जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी केंद्र सरकार से मामले में हस्तक्षेप की मांग कर रहे थे। इसके बाद जिलाधिकारी एसए मुरुगेशन के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया।

मुस्लिम कालोनी रीठा मंडी के पार्क में बुधवार को मुस्लिम समुदाय लोग एकत्र हुए। इस मौके पर शहर काजी मौहम्मद अहमद कासमी ने कहा कि म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों पर जुल्म और अत्याचार हो रहा है। नायब काजी सुन्नी सैयद अशरफ हुसैन कादरी ने बताया कि तीन बजे अजान के जरिये रोहिंग्या मुस्लिमों की सुरक्षा की मांग की गई। लोहियानगर की रजा जामा मस्जिद में मौलाना फिरोज, गांधीग्राम की गोशिया जामा मस्जिद के राशिद खान और कंडोली की साबरी मस्जिद में हाफिज निसार अहमद ने अजान दी

बेकसूर लोगों विशेषकर बच्चों, महिलाओं और बुजुर्गों का सरेआम कत्ल किया जा रहा है। भारत सरकार को चाहिए कि वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय को साथ लेकर इस मामले में हस्तक्षेप कराए।  शहर मुफ्ती-ए-आजम मौलाना सलीम अहमद ने कहा कि इसके लिए दुनिया के मुस्लिमों और मानवाधिकारवादियों को सक्रिय होना होगा।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE