Kanhaiya2

जेएनयू छात्रसंघ अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और शिक्षा मंत्री स्म्रृति इरानी पर हमला करते हुए कहा कि जिस देश के शिक्षा मंत्री व प्रधानमंत्री की डिग्री ही संदिग्ध हो, वहाँ किसी छात्र की डिग्री का क्या कहना ? उन्‍होंने कहा कि बिहार का मामलादेश की शिक्षा-व्यवस्था की हालत को दर्शाता है.

उन्होंने सरकार की शिक्षा नीति के बारे में कहा कि इस सरकार ने विश्वविद्यालयों को युद्ध क्षेत्र में तब्दील कर दिया है. शिक्षा को बाज़ार के हवाले कर सबसे ज़्यादा सामाजिक न्याय की अवधारणा को निशाना बनाया जा रहा है.  जो नेता छात्र आंदोलन की उपज हैं, कम-से-कम उन्हें छात्रों के सवालों के प्रति उदासीन नहीं होना चाहिए.

पटना पहुंचे कन्हैया ने जेल में बंद अपने संगठन एआईएसएफ के कार्यकर्ताओं से मुलाकात की जिसके बाद एक विरोध मार्च में शामिल हुए. इस दोरान कन्‍हैया ने बिहार टॉपर्स घोटाले के बारे में कहा कि ‘बिहार में जो हुआ (टॉपर्स घोटाला) वो शर्मनाक है.

उन्होंने आगे कहा, इस देश में इससे ज्‍यादा शर्मनाक यह है कि लोग पीएम और केंद्रीय शिक्षा मंत्री की डिग्री पर सवाल उठा रहे हैं. मुझे नहीं पता कि पीएम और शिक्षा मंत्री की डिग्री असली हैं कि नहीं. मुझे नहीं पता कि आप (पीएम और शिक्षा मंत्री) ने शिक्षा ग्रहण की है कि नहीं. यह देश की शिक्षा मंत्री की डिग्री के बारे में नहीं है बल्‍क‍ि देश की शिक्षा के बारे में है.’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें