इंदौर। पंजाब के पठानकोट में वायुसेना के एक स्टेशन पर आतंकी हमले के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने पाकिस्तान को लेकर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया कूटनीतिक रुख का बचाव किया है। संघ ने कहा कि वह पिछले महीने की औचक पाकिस्तान यात्रा के दौरान मोदी के अपने पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ के घर खाना खाने का विरोध नहीं करता और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार देश में आतंकवाद की समस्या से निपटने में सक्षम हैं।

और पढ़े -   जान की परवाह किए बिना मुस्लिम युवक ने क्रैश लैंडिंग के दौरान की थी फडणवीस की मदद

संघ के सहकार्यवाह (सह महासचिव) दत्तात्रय होसबोले ने कहा कि मोदी को नवाज शरीफ के साथ खाना क्यों नहीं खाना चाहिए। हम इस बात का विरोध नहीं करते। हम तो मानते हैं कि पूरा विश्व एक कुटुम्ब है और अच्छा व्यवहार करना हमारा फर्ज बनता है। यही भारत का धर्म है। इस धर्म का पालन किया ही जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार देश में आतंकवाद के मसले से निपटने में सक्षम हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि वह इस मसले से अच्छी तरह निपटेंगे।

और पढ़े -   मोदी सरकार को किसी के खानपान पर किसी भी तरह की रोक लगाने का हक नहीं: पुडुचेरी सीएम

होसबोले ने एक सवाल पर कहा कि परिस्थिति के अनुसार साम, दाम, दंड और भेद का प्रयोग किया जाता है। तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी ने जहां एक ओर लाहौर की बस यात्रा की, वहीं उन्हीं के कार्यकाल में कारगिल का युद्ध भी लड़ा गया। संघ के वरिष्ठ नेता दत्तात्रेय होसबोले ने मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि दुनिया के सभी महत्वपूर्ण राष्ट्रों के प्रमुख दूसरे मुल्कों से कूटनीतिक संबंधों को बढ़ाने के लिये विदेश यात्राएं करते हैं। लेकिन भारतीय प्रधानमंत्री ने संघ के स्वयंसेवक होने के नाते अपनी विदेश यात्राओं के दौरान परदेस में न केवल भारत माता की जय-जयकार कराई, बल्कि भारत में गंगा के तट पर एक विदेशी प्रधानमंत्री से आरती भी कराई। साभार: आईबी एन खबर

और पढ़े -   झारखंड हत्याकांड - पुलिस के सामने ही की थी नईम की हत्या, बचाने के बजाय तमाशबीन बनी रही

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE