जाट आन्दोलन के दौरान हिंसा को लेकर दर्ज एफआईआर में भी राजनीति की बातें सामने आ रही हैं। हिंसा के शिकार लोगों के स्टेटस के हिसाब से केस दर्ज किए जा रहे हैं। पहले भी हरियाणा में हफ्ते भर से ज्यादा चले उपद्रव में पुलिस की भूमिका को लेकर सवाल उठ चुका है।
fir rohtak
मंत्री के घर हमले पर सख्त धाराएं, आम आदमी के घर हमले पर चोरी का केस…
 – आरोप है कि एक जैसी कंडीशन में रसूखदार लाेगों की एफआईआर में तो ठोस धाराएं जोड़ी जा रही हैं, पर आम आदमी की शिकायत पर चोरी जैसी कमजोर धाराएं लगाई जा रही हैं।
– खुलासों की मानें तो ऐसा एक नहीं सैकड़ों लोगों के साथ किया जा रहा है।
– लोगों के मुताबिक, अफसर यह कहकर पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रहे हैं कि बयान के तहत धाराएं जोड़ दी जाएंगी।
– उनके पास इस बात का कोई जवाब नहीं है कि सरेआम डकैती की गई तो चोरी की धारा क्यों लगाई गईं?
– महिलाओं और बच्चों के घर में मौजूद होने पर आग लगाने की कोशिश की गई तो हत्या की कोशिश की धारा 307 क्यों नहीं लगाई?
– फाइनेंस मिनिस्टर कैप्टन अभिमन्यु के फैमिली मेंबर्स की मौजूदगी में जब आग लगाने और लूटपाट की कोशिश हुई तो पुलिस ने हत्या की कोशिश, डकैती, आर्म्स एक्ट, साजिश रचने से जुड़ी धाराएं लगाईं।
– जबकि सुखपुरा चौक व शहर के अन्य इलाकों में आम पब्लिक के घर में हुए एक जैसे मामले में चोरी की कमजोर धारा लगाई गई।
केस 1 : मंत्री के यहां आगजनी में लगाई सख्त धाराएं
– आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा के वक्त कैप्टन अभिमन्यु के परिवार के 9 मेम्बर्स सेक्टर 14 स्थित कोठी में मौजूद थे। वहां 19 और 20 फरवरी को आगजनी हुई। इस केस में आईपीएस की धारा 307 (हत्या का प्रयास), हथियारबंद भीड़ के घर में डकैती करने (395), साजिश (120बी), आर्म्स एक्ट 25/54 की धाराएं लगाई गई हैं।
– ऐसे ही केस में सुखपुरा चौक के लोगों की तरफ से दर्ज एफआईआर में इन धाराओं का कोई जिक्र नहीं है।
– फाइनेंस मिनिस्टर के यहां हुई वारदात में धारा 148, 149, 186, 188, 353, 427, 436 व 452 लगाई गई हैं।
– कैप्टन के मामले की जांच के लिए एसआईटी भी गठित कर दी गई है। दो आरोपियों को अरेस्ट भी कर लिया गया है।
– मंत्री के यहां आगजनी में पहली एफआईआर 20 फरवरी को ईएएसआई सुरेंद्र कुमार ने थाना अर्बन एस्टेट में दर्ज करवाई।
– इसके बाद 27 फरवरी को कैप्टन के भतीजे रोहित संधू ने 40 आरोपियों के खिलाफ मजबूत धाराएं लगवाकर दूसरी एफआईआर दर्ज करवाई।

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें