जिस गुजरात मॉडल के कारण नरेंद्र मोदी केंद्र की सत्ता में आए थे आज उसी गुजरात मॉडल की हालत जानकर आप चौंक जाएंगे। यहां कर्ज माफी के लिए लोग अपनी किडनी तक बेच रहे हैं। यहां के एक ग्रामीण आमिर मलिक की उम्र महज 27 वर्ष है, इसी उम्र में उन्होंने अपनी एक किडनी गंवा दी है। कर्ज माफी ‌दिलाने के बहाने पिछले दिनों धोखे से उनकी किडनी निकाल ली गई।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताब‌िक, मलिक मामले में एफआईआर बाद पंडोली गांव में ऑर्गन रैकेट का ‌खुलासा हुआ है, जहां कम से कम 13 ग्रामीणों की किडनी गायब है। इनकी उम्र 20 से 35 साल के बीच है। मलिक के पिता बानू ने बताया कि 12 फरवरी को दिल्ली के एक अस्पताल में किडनी निकाली गई। उन्होंने बताया कि ये काम मलिक की जानकारी के बगैर हुआ। मलिक पर एक लाख रुपए का कर्ज था और उस चुकता करने के लिए उसे ब्याज मुक्त लोन की आवश्यकता था।
बानू ने बताया कि मलिक ने लोन की बावत अपने दोस्तों से बात की थी। मलिक ने पुलिस को बताया कि उसे दिल्ली ले जाया गया था, जहां उसके दोस्तों ने नशीली दवा देकर उसे बेहोश कर दिया। उन्होंने ही धोखे से उसकी किडनी बेच दी। उसने बताया कि किडनी की एवज में उसे 2.3 लाख रुपए दिए गए,‌ जिससे उसने अपना एक लाख रुपए का कर्ज चुकाया और बाकी पैसे अपनी दोनों बेटियों के लिए बैंक में जमा कर दिए। मलिक की एक बेटी तीन साल की और दूसरी एक साल की। मलिक की एफआईआर के बाद आनंद की पुलिस ने मामले का जांच के लिए विशेष जांच दल बनाया है।
एसपी अशोक यादव ने बताया, गांव वालों ने कुद अस्पतालों के बारे में बताया है। मामले की जांच की जा रही है। ऐसे भी बयान हैं कि श्रीलंका के किडनी एजेंट यहां सक्रिय हैं।  पंडोली आनंद जिले के पेटलाद तलुका का गांव है, पुलिस एफआईआर के बाद गांव के कई लोगों से पूछताछ कर चुकी है। पंडोली के रफीक अहमद वोहरा ने छह महीने पहले अपनी किडनी बेची थी। आमिर का आरोप है कि उसकी किडनी के बिकवाने के पीछे रफीक का हाथ हो सकता है।
गांव की पंचायत के कर्मचारी रमन सोलंकी ने बताया कि 2001 में पूनम पहला ऐस शख्स था, जिसने अपनी किडनी बेची थी। उसके बाद से कई लोगों ने अपनी किडनी बेची। एसपी यादव ने बताया कि अगर कोई किडनी दान करना चाहता है तो इसमें कुछ भी गैरकानूनी नहीं है, हालांकि पिंडोली में ये गैरकानूनी तरीके से किया जा रहा है।
रफीक की पत्नी जाहिदा का कहना है कि बेटी की शादी के बाद उन पर कर्ज हो गया था, जिसे चुकाने के ‌‌लिए रफीक को अपनी किडनी बेचनी पड़ी। गांव वालों ने बताया कि कर्ज चुकाने के ‌लिए किडनी बेचना गांव में चलन हो गया है। कई बड़े अस्पताल किडनी खरीदने के लिए अपने एजेंट भेजते हैं। (Live India)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें