ट्रिपल तलाक के मुद्दें पर बीजेपी ने एक और बड़ा दाव खेला हैं. असम में बीजेपी की सरकार ने तलाकशुदा मुस्लिम महिलाओं को पेंशन देने का फैसला किया हैं. ख़ास बात ये हैं कि ये पेंशन सिर्फ मुस्लिम महिलाओं को ही दी जाएगी. अन्य किसी धर्म की तलाकशुदा महिला को ये सुविधा नहीं मिलेगी.

हिंदुस्तान टाइम्स पर छपी खबर के मुताबिक, असम के स्वास्थ्य और शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा है कि राज्य सरकार ट्रिपल तलाक पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को पेंशन देगी और साथ ही उन्हें स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग भी मुहैया कराएगी ताकि वो आत्मनिर्भर बन सकें.

और पढ़े -   गोरखपुर: अभी जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, दो दिनों में 35 और बच्चों की मौत

शर्मा ने कहा, ‘पॉप्युलेशन पॉलिसी के बदले हुए ड्राफ्ट में तलाकशुदा मुस्लिम महिलाओं के लिए पेंशन दिए जाने का सुझाव दिया गया है. इसका नाम बदलकर ‘ड्राफ्ट पॉप्युलेशन ऐंड वीमन एम्पावरमेंट पॉलिसी ऑफ असम’ रखा गया है. इस ड्राफ्ट पॉलिसी को इस साल अगस्त में विधानसभा सत्र में पेश किया जाएगा.’

इस प्रस्तावित पॉलिसी का उद्देश्य राज्य में सामाजिक-आर्थिक और चिकित्सकीय तरीकों से जनसंख्या नियंत्रित करना है. उन्होंने यह भी संकेत दिया कि लड़की पैदा होने या अन्य किसी सतही आधार पर महिला को छोड़ने या तलाक देने जैसे मामले को दंडनीय अपराध बनाने के लिए कानून भी बनाया जाएगा.

और पढ़े -   खतौली रेल हादसें में 8 अधिकारियों पर कार्रवाई, जांच में सामने आई खुलकर लापरवाही

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE