कोलकाता: शारदा चिटफंड घोटाले की चार्जशीट में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम का भी नाम आ गया है। इस मामले में सोमवार को सीबीआई की ओर से दाखिल छठी पूरक चार्जशीट में उनका जिक्र गवाह या आरोपी के तौर पर नहीं किया है। इसमें कहा गया है कि नलिनी विवादित डील की ‘राज़दार’ थीं।
शारदा: चार्जशीट में चिदंबरम की बीवी का नाम

सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा, ‘वह इस मामले की एक आरोपी मनोरंजना सिंह की वकील थीं। उन्हें शारदा के पैसे से फीस मिली थी, इसलिए उनका नाम आया है।’ इस घोटाले में नलिनी का नाम पहली बार तब आया था जब शारदा ग्रुप के प्रमोटर सुदिप्ता सेन ने कथित रूप से सीबीआई को 2013 में पत्र लिखकर बताया था कि उनकी फीस कंपनी के अकाउंट से चुकाई गई थी।

इस मामले में गंभीर फर्जीवाड़ा जांच कार्यालय (एसएफआईओ) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शारदा ग्रुप और सुदिप्ता के बीच साल 2010 में जब डील साइन की गई थी, तब नलिनी एकमात्र मध्यस्थ थीं। रिपोर्ट में दावा किया गया था कि ऐसा लगता है कि उन्हें बतौर वकील व्यावसायिक सेवाओं के लिए भुगतान किया गया था।

सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ में मनोरंजना ने दावा किया कि नलिनी उनका कॉर्पोरेट अफेयर्स दख रही थीं, इसलिए शारदा और जीएनएन इंडिया के बीच सहमति पत्र और समझौते का प्रारूप एनसी असोसिएट्स ने चेन्नै में तैयार किया था। शारदा के बॉस ने पहले पूछताछ करने वालों के सामने दावा किया था कि डील का मसौदा ऐसा था, जिससे मनोरंजना को फायदा हो।

नलिनी को कितने पैसे का भुगतान किया गया था, इस सवाल पर कोई भी अधिकारी कुछ बताने के लिए तैयार नहीं हैं। हालांकि, बैंकों के आंकड़ों के मुताबिक नलिनी को जून 2010 से सितंबर 2012 के बीच 65.85 लाख रुपये का भुगतान किया गया था। हालांकि, शारदा के टीडीएस रिकॉर्ड से पता चलता है कि उन्हें मार्च से जून 2011 के दौरान डेढ़ करोड़ रुपये दिए गए। सूत्र का कहना है कि 15 लाख का टीडीएस काटा गया है। साभार: नवभारत टाइम्स


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें