मेहसाणा। गुजरात में एक बार फिर पाटीदार सड़कों पर उतर आए हैं। पाटीदार समाज को आरक्षण दिलाने और राजद्रोह के आरोप में जेल में बंद हार्दिक पटेल और अन्य पाटीदार नेताओं से जेल से छुड़ाने के लिए पाटीदारों ने जेल भरो आंदोलन शुरू किया है। इसी दौरान मेहसाणा में आंदोलनकारी पाटीदारों और पुलिस के बीच जबरदस्त झड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया और पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले दागे।

Screenshot_1

मेहसाणा में सांसद जयश्री बेन पटेल के दफ्तर में भीड़ ने तोड़फोड़ की। मेहसाणा में बेकाबू भीड़ को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है। इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है और धारा 144 लगा दी गई है। आरक्षण के मुद्दे पर गुजरात में पाटीदार समाज द्वारा छेड़े गए जेल भरो आंदोलन में पुलिस के खिलाफ जबरदस्त पथराव हुआ। वाटर कैनन से भीड़ को हटाने की कोशिश नाकामयाब होने के बाद आंसू गैस के गोले दागे गए। मेहसाना में कई वाहनों को आग लगाई गई है, कई एटीएम आग के हवाले कर दिए गए हैं।

गिरफ्तारी देने पहुंचे पाटीदार नेता लालजी पटेल बुरी तरह घायल हो। मेहसाणा में अभी भी पुलिस और प्रदर्शनकारियों की भिड़ंत जारी है। आंदोलनकारियों ने स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल के दफ्तर में पाटीदार युवाओं ने जमकर तोड़फोड़ की। सूरत और मेहसाणा के अलावा अन्य शहरों में रैली, धरना और प्रदर्शन के कार्यक्रम चल रहे हैं। सीएम आनंदी बेन ने कहा कि ऐसे आंदोलन तो चलते रहते है। हमारा काम लोगों की सेवा करने का है।

सरदार पटेल ग्रुप के प्रमुख लालजी पटेल ने कहा कि सरकार पाटीदारों की बात सुनने को तैयार नहीं हैं। हरियाणा में जाटों को और राजस्थान में गुर्जरों को आरक्षण मिल सकता है तो गुजरात में पाटीदारों को क्यों नहीं। (khabar.ibnlive.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें