अहमदाबाद: सूरत में बुधवार को पाटीदार समाज ने करीब 6 महिने से जेल में बंद पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को जेल से छुड़वाने और पटेल समाज को जल्द आरक्षण देने की मांग को लेकर एक दिन का धरना का आयोजन हुआ।

पाटीदार आरक्षण पर घिरती गुजरात सरकार, भाजपा के ही विधायक उतरे हार्दिक के समर्थन मेंइसमें राज्यभर के कई पटेल नेता पहुंचे औऱ एक दिन के सांकेतिक धरने औऱ उपवास में शिरकत की। महत्वपूर्ण है कि इस धरने का मकसद जल्द से जल्द हार्दिक पटेल को जेल से छुड़वाने का है। हार्दिक पटेल के खिलाफ गुजरात सरकार ने ही राजद्रोह का मामला दर्ज कर रखा है।

और पढ़े -   योगी सरकार ने अब बरेली और कानपुर एयरपोर्ट के नाम बदले

पाटीदार आंदोलन के दौरान पुलिस औऱ राज्य सरकार के खिलाफ बोलने के लिए उसके खिलाफ केस दर्ज है। हैरानी तब हुई जब एक तरफ राज्य की आनंदीबेन पटेल के नेतृत्ववाली भाजपा सरकार हार्दिक पटेल की जमानत का कोर्ट में विरोध कर रही है और उसे छुड़वाने के लिए हो रहे धरने में खुद भाजपा के कुछ विधायक पहुंचे।

भाजपा के सूरत से विधायक कुमार कानाणी और प्रफुल्ल पानसेरिया ने शिरकत की, भाजपा की सूरत शहर की मेयर अस्मिता शिरोया भी समर्थन देने पहुंची। इससे चर्चा शुरू हुई है कि क्या अब राज्य में मुख्यमंत्री का विरोध खुद भाजपा में ही तेज़ हो रहा है। पटेल आंदोलन के मुद्दे पर मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल घिरती नजर आ रही हैं और पटेल समाज के साथ समाधान की सभी कोशिशें अब तक नाकाम रही हैं। (khabar.ndtv.com)

और पढ़े -   योगी सरकार के शुरुआती दो महीनों में हुए 803 बलात्कार और 729 मर्डर

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE