पाकिस्‍तान के मशहूर सिंगर राहत फतेह अली खान को गुरुवार को हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशल एयरपोर्ट से डिपोर्ट कर दिया गया। खबर है कि गुरुवार को वह अमीरात एयरलाइंस से हैदराबाद एयरपोर्ट पर उतरे थे, और कुछ देर बाद ही उन्‍हें वापस अबु धाबी जाने के लिए कह दिया गया। राहत फतेह अली खान हैदराबाद के मशहूर ताज फलकनुमा पैलेस में नए साल की पूर्व संध्‍या पर कार्यक्रम पेश करने के लिए आए थे।

इमिग्रेशन अथॉरिटी के मुताबिक, कोई भी पाकिस्‍तानी नागरिक इंडिया में हैदराबाद के जरिए एंट्री नहीं कर सकता है। नियम के अनुसार, कोई भी पाकिस्‍तानी नागरिकों जो हवाई रास्‍ते भारत में एंट्री कर रहा हो, उसे दिल्‍ली, मुंबई, कोलकाता या फिर चेन्‍नई एयरपोर्ट से होकर आना होता है, लेकिन राहत फतेह अली खान ने ऐसा नहीं किया। इसी वजह से राहत फतेह अली खान को वापस अबु धाबी भेजा गया और उन्‍हें नियमों के मुताबिक, एंट्री प्‍लाइंट से आने के लिए कहा गया। उधर, राहत फतेह अली खान को वापस अबु धाबी भेजे जाने के बारे में जैसे ही कार्यक्रम के आयोजकों को पता चला तो वे परेशान हो गए।

सूत्रों के मुताबिक, उन्‍होंने इस संबंध में गृह मंत्रालय से बात की, और फिर राहत फतेह अली खान ने अबु धाबी की फलाइट पकड़ी, जहां से वे दिल्‍ली आए और फिर वहां से हैदराबाद पहुंचे। फलकनुमा पैलेस में उनका सूफी संगीत का कार्यक्रम था, जिसका मकसद आपसी ‘सौहार्द्र’ बढ़ाना रहा। राहत फतेह अली खान बॉलीवुड में कई हिट गाने गा चुके हैं। वह मशहूर सूफी सिंगर नुसरत फतेह अली खान के भतीजे हैं। 2011 में इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बड़ी मात्रा में अघोषित विदेशी मुद्रा रखने के मामले में भी उन पर एक बार जुर्माना लगाया जा चुका है। राहत और उनके मैनेजर पर 10-10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया था। साभार: जनसत्ता


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE