symbolic
symbolic

ओडिशा सरकार द्वारा पशुओं की बलि पर पाबंदी लगाये जाने का बावजूद भी रविवार को मानिकेश्वीर मंदिर में वार्षिक “छत्तर यात्रा” के मौके पर 50 हजार से अधिक पशुओं की बलि दी गई. बलि देने से रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन द्वारा कई बार अपील भी गई.

इसके अलावा बलि देने से रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन कैमेरे भी ललगाए थे लेकिन फिर भी भारी मात्रा में पुलिस बल की मौजूदगी में बलि देना जारी रहा. स्थानीय लोगों का कहना था कि बलि पर प्रतिबंध उनकी धार्मिक स्वतंत्रता में दखल बताया.

और पढ़े -   जमेशदपुर: पुलिस की मौजूदगी में मस्जिद पर फेंके गए पत्थर, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

प्राप्त जान्कती के अनुसार प्रशासन की और से  बलि रोकने के लिये 11 प्लाटून पुलिस पूजा स्थल पर तैनात की गई थी. जिनमे 41 सब-इंस्पेक्टर, 15 इंस्पेक्टर और पांच पुलिस डिप्टी सुपरिटेंडेंट और एक एडिशनल एसपी को तैनात किया गया था.

एसपी बृजेश कुमार राय ने कहा, “हमने व्यापक जागरूकता अभियान चलाया था लेकिन मुझे लगता है कि इससे बलि में कमी आएगी.”

और पढ़े -   झारखंड हत्याकांड - पुलिस के सामने ही की थी नईम की हत्या, बचाने के बजाय तमाशबीन बनी रही

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE