कानपुर। सरकार के लाख कोशिशों के बावजूद सोशल मीडिया पर जाति और धर्म के नाम पर उन्मादी मैसेज वायरल हो रहे हैं। कानपुर में गुरुवार को सोशल मीडिया पर मुस्लिम महिलाओं को लेकर एक कमेंट वायरल हुआ। इसको लेकर मुस्लिम महिलाओं ने तत्काल कोतवाली सीओ को इसके जांच के आदेश दिए और एफआईआर दर्ज कराया।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कानपुर के कुछ व्हाट्सएप ग्रुप पर एक मैसेज वायरल हुआ, जिसमें मुस्लिम महिलाओं पर टिप्पणी की गई थी। इसकी जानकारी जैसे ही मुस्लिम महिलाओं के उत्थान के लिए काम करने वाली सपा की सक्रीय नेता उजमा सोलंकी को हुई, तो उन्होंने इसकी शिकायत तत्काल आईजी कानपुर जोन जकी अहमद से की। इसके बाद उन्होंने आईजी के कहने पर इस मामले की तहरीर कानपुर कोतवाली के सीओ को दी।
आईजी जकी अहमद के आदेश पर सीओ कोतवाली ने इस मामले में तत्काल एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच करने का भरोसा दिया। उजमा सोलंकी के अनुसार, जब हम एक समाज में रहते हैं, ऐसे में किसी को भी किसी के धर्म के खिलाफ टिप्पणी करने या किसी धर्म विशेष की महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है।
UPUKLive के पास उन कमेंट्स की कॉपी है, लेकिन मुस्लिम समुदाय की भावनाओं के कारण उन्हें यहाँ लिखा नहीं जा सकता।  (साभार: upuklive.com)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें