नई दिल्ली : दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने नर्सरी एडमिशन पर बड़ा फैसला लेते हुए दिल्ली के स्कूलों में मैनेजमेंट कोटा पूरी तरह खत्म कर दिया है।

दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि मैनेजमेंट कोटा एक तरह का घपला है जिसके आधार पर स्कूल अपनी मनमानी करते थे और आम लोगों के बच्चों को दाखिल नहीं मिल पाता था इसलिए मैनेजमेंट कोटा पूरी तरह से ख़त्म कर दिया गया है। केजरीवाल ने बताया कि अब स्कूलों में 75 फीसदी सीटें आम बच्चों के लिए और 25 फीसदी सीटें गरीब बच्चों के लिए होंगी।

और पढ़े -   सेक्स रेकेट चलाते धरे गए बीजेपी मीडिया प्रभारी के भाजपा के बड़े नेताओं से है रिश्तें ?

केजरीवाल ने कहा कि दिसंबर में सभी स्कूलों को कहा गया था कि दाखिले के पैमाने वो खुद तय करें और वेबसाइट पे डालें लेकिन कुछ स्कूलों ने ऐसे पैमाने लिखें है जैसे कि जिनके मां-बाप नॉन वेज खाते हैं, स्मोकिंग करते, शराब पीते उनको दाखिला नहीं मिलेगा जो कि मनमाना और गलत हैं इसलिए सरकार ने ऐसे 62 तरह के पैमाने ख़त्म कर दिए हैं।

और पढ़े -   नरौदा पाटिया नरसंहार मामलें में गवाह ने कहा - दंगाईयों की भीड़ में बाबू बजरंगी को नहीं देखा था

सरकार के मुताबिक़ वो स्कूलों की स्वतंत्रता में दखल नहीं दे रही लेकिन सरकार कुछ गलत होते हुए नहीं देख सकती इसलिये ये फैसले लिए गए हैं। आपको बता दें अभी दिल्ली के स्कूलों के पास खाली बची रह गई सीटों को मैनेजमेंट कोटा में बदलने का चलन है जिसमे बड़े पैमाने पर धांधली के आरोप लगते हैं। साभार: news24


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE