नई दिल्ली : दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने नर्सरी एडमिशन पर बड़ा फैसला लेते हुए दिल्ली के स्कूलों में मैनेजमेंट कोटा पूरी तरह खत्म कर दिया है।

Team selection for the DDCA official was asked to come home alone at night woman

दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि मैनेजमेंट कोटा एक तरह का घपला है जिसके आधार पर स्कूल अपनी मनमानी करते थे और आम लोगों के बच्चों को दाखिल नहीं मिल पाता था इसलिए मैनेजमेंट कोटा पूरी तरह से ख़त्म कर दिया गया है। केजरीवाल ने बताया कि अब स्कूलों में 75 फीसदी सीटें आम बच्चों के लिए और 25 फीसदी सीटें गरीब बच्चों के लिए होंगी।

केजरीवाल ने कहा कि दिसंबर में सभी स्कूलों को कहा गया था कि दाखिले के पैमाने वो खुद तय करें और वेबसाइट पे डालें लेकिन कुछ स्कूलों ने ऐसे पैमाने लिखें है जैसे कि जिनके मां-बाप नॉन वेज खाते हैं, स्मोकिंग करते, शराब पीते उनको दाखिला नहीं मिलेगा जो कि मनमाना और गलत हैं इसलिए सरकार ने ऐसे 62 तरह के पैमाने ख़त्म कर दिए हैं।

सरकार के मुताबिक़ वो स्कूलों की स्वतंत्रता में दखल नहीं दे रही लेकिन सरकार कुछ गलत होते हुए नहीं देख सकती इसलिये ये फैसले लिए गए हैं। आपको बता दें अभी दिल्ली के स्कूलों के पास खाली बची रह गई सीटों को मैनेजमेंट कोटा में बदलने का चलन है जिसमे बड़े पैमाने पर धांधली के आरोप लगते हैं। साभार: news24


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें