इस दौरान आरएसएस दफ्तर में मौजूद लोगों और एनएसयूआई कार्यकर्ताओं में कहा सुनी भी हुई। तिरंगा फहराने वाले एनएसयूआई कार्यकर्ताओं का आरोप है कि आरएसएस और बीजेपी के लोग एक तरफ तो देशभक्ति का सर्टिफिकेट बांटते हैं, तिरंगे के नाम पर सियासत करते हैं, वहीं यह खुद अपने दफ्तरों में तिरंगा फहराने में कंजूसी करते हैं और तिरंगे के बजाय भगवा को वरीयता देते हैं।

इलाहाबाद में एनएसयूआई के एक दर्जन कार्यकर्ता आज सिविल लाइंस में आरएसएस के स्थानीय दफ्तर में पहुंचे। यहां गेट पर नारेबाजी करने के बाद कुछ लोग दफ्तर की छत पर चढ़ गए और वहां तिरंगा झंडा लहराया।

कार्यकर्ताओं ने इस दौरान वहां लगे भगवा झंडे को फाड़ने की भी कोशिश की। इस दौरान दफ्तर में बैठे लोगों ने शोर मचाया तो एनएसयूआई कार्यकर्ता फिर से नारेबाजी करते हुए चले गए। (पत्रिका)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें