नागालैंड पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) ने बीजेपी के साथ पिछले दस सालों से चले आ रहे गठबंधन को टूटने को लेकन न केवल ख़ुशी मनाई बल्कि पार्टी मुख्यालय पर अपने कार्यकर्ताओं के लिए बीफ पार्टी भी आयोजित की.

दरअसल 1998 से बीजेपी के साथ चला आ रहा एनपीएफ का गठबंधन 18 जुलाई को टूट गया. ये गठबंधन इसी महीने राज्यपाल पीबी आचार्य ने शुरहोजेली लीजीत्सु की सरकार को भंग कर देने के बाद टुटा है. साथ ही बीफ पर रोक कोलेकर हालिया मोदी सरकार के पशु बिक्री रोक के फैसले ने भी आग में घी डालने का काम किया था.

बीफ पार्टी के आयोजन पर पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हुस्का येपाथोमी ने कहा, ‘पार्टी का आयोजन बीजेपी को उकसाने के लिए है. बीजेपी गौहत्या के खिलाफ है और इसको लेकर भगवा पार्टी काफी मुखर है. नागा सदियों से बीफ खाते आए हैं और यह हमारे जीवन का ही हिस्सा है और आगे भी रहेगा.’

एनपीफ यूथ विंग के अध्यक्ष विहोशे सुमी ने कहा, ‘पार्टी के आयोजन के लिए 3 गाय पार्टी के कार्यकर्ता ने दान में थी. उन्हीं गायों के जरिए इस पार्टी का आयोजन किया गया है.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE