उत्तरप्रदेश में योगी सरकार के बनने के साथ ही दलितों का भी हिंदू धर्म छोड़ने का जो सिलसिला शुरू हुआ है, वह अब रुकने का नाम नहीं ले रहा है. अब बरेली में 200 से ज्यादा दलितों परिवारों के हिंदू धर्म त्यागने की खबर है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, दो सौ से अधिक दलित परिवारों ने हिन्दू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म को अपना लिया है. इसके पीछे वजह बताते हुए दलितों का कहना है कि हाल के वर्षों से उनका शोषण ज्यादा हो रहा है और यही वजह है कि अब वो ऐसे धर्म में नहीं रहना चाहते जहां उन्हें सम्मान न मिलता हो.

और पढ़े -   विदेश भागने की अफवाह पर डॉ कफील बोले - मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा, मेरा कोई कसूर नहीं

पंचशील नगर के बौद्ध बिहार में हर रविवार सुबह 9 बजे दर्जनों दलित इकट्ठे होकर बौद्ध धर्म को अपना रहे हैं. जनवरी से अभी तक करीब ढाई सौ दलित परिवारों ने बौद्ध धर्म को अपना लिया है.

बौद्ध धर्म के धार्मिक सचिव जागन सिंह राकेश ने बताया कि हिन्दू धर्म में सदियों से चली आ रही चतुर्वर्ण व्यवस्था की वजह से दलितों का हमेशा से शोषण होता रहा है.उन्होंने बताया कि हिन्दू धर्म में ब्राह्मण, क्षत्रिय वैश्य और शूद्र चतुर्वर्ण व्यवस्था सदियों से चली आ रही है, जिसका वे विरोध करते हैं.

और पढ़े -   गुजरात: फिर सामने आया ऊना कांड, दलित युवक और महिला की नग्न कर पिटाई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE