उत्तरप्रदेश में एक के बाद एक साम्प्रदायिक तनाव के मामलें सामने आ रहे है. अब अमरोहा स सांप्रदायिक तनाव की खबरें सामने आ रही हैं. जहाँ सकतपुर गांव में मुस्लिमों को मस्जिद में नमाज नहीं पढ़ने दिया जा रहा है.

जातीय हिंसा में जलते सहारनपुर की हिंसा को समाप्त करने में नाकाम रही योगी सरकार के लिए अब अमरोहा भी एक चुनोती बन गई है. दरअसल इस पुरे तनाव के पीछे आरएसएस का हाथ बताया जा रहा है. आरएसएस से जुड़े भारतीय किसान संघ के नेता मुस्लिमों को मस्जिद में नमाज अदा नहीं करने दे रहे है.

और पढ़े -   गौरक्षकों को ईद उल अजहा पर हुए कुर्बानी बकरों की तेरहवीं मनाना पड़ा महंगा

वहीँ किसान संघ के नेता का कहना है कि मस्जिद का निर्माण अवैध है. स्थिति को देखते हुए मस्जिद के बाहर पुलिस तैनात है. वहीँ, दूसरी और मुसलमान अपनी सुरक्षा के मद्देनज़र गांव से पलायन करने की बात कर रहे हैं.

स्थानीय मुस्लिमों का कहना है कि ”हमें मस्जिद में नमाज नहीं पढ़ने दी गई. मस्जिद से बाहर निकाल दिया गया और अब वहां पुलिस बैठ है. अब हालात ऐसे हैं कि हम पलायन कर जाएंगे. ये हमारी मजबूरी है. लोग जीने नहीं दे रहे. पुलिस वाले सरकार का साथ दे रहे हैं.”

और पढ़े -   बीजेपी की और से मेरे पिता भी हो प्रत्याशी तो भी वोट मत देना: हार्दिक पटेल

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE