cow1

देश भर में गौरक्षा के नाम पर मुस्लिम और दलित समुदाय के लोगों को पीटा जा रहा हैं. लेकिन जहाँ गायों को सेवा की दरकार हैं. वहां से तथकथित गौरक्षक नदारद हैं. हाल ही में जयपुर की हिंगोनिया गौशाला में गायों की मौत का मामला शांत नहीं हुआ था कि अब छत्तीसगढ़ की कर्रामाड़ की गौशाला से 140 गायों की मौत की खबर आई हैं.

छत्तीसगढ़ में कांकेर जिले के दुर्गूकोंदल इलाके में पिछले एक महीने से ज़्यादा समय में कर्रामाड़ की गौशाला में 140 गायों की मौत हो गई है. कई गायें बीमारी से और कई गायें भूख से मर गई हैं. लगभग 70 से ज्यादा गाय अब भी बीमार है. इन गायों की सुध लेने वाला कोई नहीं हैं.

बताया जा रहा है कि गौशाला में गायों की देखभाल पर ध्यान नहीं दिया गया, जिसके कारण गायों की मौत हुई. कई गायों ने भूख और बीमारी से दम तोड़ दिया है. मरने के बाद मवेशियों के शवों को जंगलों में फेंक दिया गया है. शवों से उठ रही बदबू से लोगों का बुरा हाल है.

बीते दिनों इलाके में अभियान चलाकर आवारा पशुओं को पकड़ा गया था, जिसके बाद गौशाला में गायों की संख्या बढ़ गई थी. अभी ज़्यादातर गायें कुपोषित और रोगी हो गई हैं. इनके इलाज के लिए ध्यान नहीं दिया जा रहा है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें