भारतीय जनता पार्टी के महासचिव और बीजेपी से राज्यसभा सासंद रूपा गांगुली समेत भाजपा के दो अन्य नेताओं को को बंगाल की क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (सीआईडी) ने बाल तस्करी मामले में नोटिस जारी किया है. गांगुली को छोड़कर सभी नेताओं को 27 जुलाई को सीआइडी मुख्यालय में हाजिर होने का निर्देश दिया जबकि 29 जुलाई को रूपा के घर जाकर सीआइडी की टीम खुद पुछताछ करेगी.

बाल सुरक्षा अधिनियम के तहत सेक्शन बीजेपी नेता विनायक मिश्रा, प्रशांत सरीन, कैलाश वजयवर्गीय और रूप गागुंली के खिलाफ जलपायगुरी कोटवाली पुलिस स्टेशन में 19 फरवरी 2017 को केस दर्ज हुआ था. ये केस बाल तस्करी को लेकर है.

गौरतलब है कि जलपाईगुड़ी में नवजात बच्चों की खरीद-फरोख्त और तस्करी मामले में गिरफ्तार विमला आवास कांड की आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने इस पुरे मामले के पीछे कैलाश विजयवर्गीय और जूही चौधरी को बताया है. जूही को सीआइडी की टीम ने साधु का वेश धारण कर नेपाल सीमा से गत एक मार्च को गिरफ्तार किया था.

ध्यान रहे रूपा गांगुली के खिलाफ पहले ही  विवादित बयान को लेकर एक और मामला चल रहा है. दरअसल, उन्होंने कहा था कि जो पार्टियां पश्चिम बंगाल की तृणमूल सरकार का समर्थन कर रही हैं, वे अपनी बहू-बेटियों को 15 दिन के लिए बंगाल भेजकर देखें उनका रेप हो जाएगा


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE