symbolic

नोटबंदी के फैसले के बाद से ही देश की जनता पर मुसीबतों का पहाड़ टूट गया हैं. वहीँ रही बाकि कसर बैंकों के इन्तेजाम ने पूरी कर दी. देश भर से नोटबंदी के कारण बैंकों की लाइनों में लोगों की मौत की खबर आ रही हैं. लेकिन उत्तरप्रदेश के बलरामपुर में 1 महीने की बच्ची की बैंक लाइन में भीड़ के कारण दम घुटने से मौत हो गई.

और पढ़े -   नरौदा पाटिया नरसंहार मामलें में गवाह ने कहा - दंगाईयों की भीड़ में बाबू बजरंगी को नहीं देखा था

दरअसल बुधवार को बलरामपुर की सादोपुर गांव की अरजुना खातून सुबह 4 बजे से से बलरामपुर की यूनाइटेड बैंक की शाखा के बाहर बैंक लाइन में खड़ी हुई थी. इस दौरान अत्यधिक भीड़ के कारण दम घुटने से अरजुना खातून की गोद में ही 1 महीने की बच्ची नूर फातमा ने दम तो दिया.

बच्ची की मौत के कारण बैंक के बाहर भीड़ उग्र हो गई. भीड़ के गुस्सें को देखकर बैंक मेनेजर सहित सभी बैंककर्मियों को अपनी जान बचाने के लिए बैंक को बंद कर छुपने के लिए मजबूर होना पड़ा. सूचना मिलते ही एसडीओ फिरोज अख्तर, एसडीपीओ चंद्रिका प्रसाद, थानाध्यक्ष शंकर शरण दास, ओपी अध्यक्ष तेलता संदीप कुमार आनंद मौके पर पहुंच कर लोगों को शांत कराया.

और पढ़े -   हिंसा के बाद योगी सरकार आई हरकत में, आला आधिकारी सस्पेंड, धारा 144 के साथ इंटरनेट पर रोक

एसडीओ ने मासूम बच्ची की मौत पर अफसोस जाहिर करते हुए परिजनों को 20 हजार रु की आर्थिक मदद देने की घोषणा की.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE