gh

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हजार और पांच सौ के नोट को अमान्य कियें जाने के बाद देश भर की जनता को नकदी की अभाव में कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा हैं. इसी के चलते कोलकाता में राजनितिक पार्टियों ने सरकार के खिलाफ इसे मुद्दा बनाए हुए मौर्चा खोल दिया हैं.

कोलकाता में सोसलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया (कम्यूनिस्ट) के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को सड़कों पर पीएम मोदी के पुतले जलाकर अपना विरोध दर्ज कराया. कॉलेज स्क्वायर से शुरू हुई रैली में कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी के फैसले को आम लोगों के खिलाफ बताया.

और पढ़े -   2000 दलितों ने दी इस्लाम अपनाने की धमकी, हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को नाले में बहाया

पार्टी के सचिव सुमैन बसु ने कहा, ‘केंद्र सरकार को नोटबंदी के फैसले से पहले उचित कदम उठाने चाहिए थे. आम लोगों को बहुत परेशानी हो रही है. मरीजों के परिवार को खुल्ले पैसों के लिए भागते देखना काफी दुख देने वाला होता है. कई लोगों की इस चक्कर में मौत हो गई.’

केंद्र के इस फैसले को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहले ही अपना विरोध दर्ज करा चुकी हैं. इस मुद्दें को लेकर वह सांसदों के साथ राष्ट्रपति से भी मुलाक़ात करेंगी. इसको लेकर बासु ने कहा कि अगर ममता उनकी पार्टी के लोगों को उनके साथ आने के लिए कहेंगी तो वह जरूर उनका साथ देंगे.

और पढ़े -   अब बरेली के 200 से ज्यादा दलितों परिवारों ने हिंदू धर्म त्याग कर अपनाया बौद्ध धर्म

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE