bbu

लखनऊ : लखनऊ की बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर सेंट्रल यूनिवर्सि‍टी में मंगलवार से नॉनवेज पर रोक लगा दी गई है। रोक लगाने के पीछे यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि 14 अप्रैल को उस्मानिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर कांचा इलइया ने यहां बीफ खाने के सपोर्ट में दिये गये बयान के कारण यहां का माहौल बि‍गड़ गया था। इसी वजह से नॉनवेज बेन किया गया हैं।

और पढ़े -   वीडियो - छेड़खानी का आरोप लगाकर बजरंग दल के गुंडों ने मुस्लिम लड़कों को किया लहूलुहान

बैन के विरोध में 200 से अधिक छात्र उतर आए हैं। विश्वविद्यालय के प्रवक्‍ता प्रो. कमल जायसवाल के अनुसार, 14 अप्रैल को हैदराबाद के उस्मानिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर कांचा इलइया डॉ. अंबेडकर पर एक सेमिनार में कहा था की हम लोग शाकाहारी हैं, इस वजह से हमारा दिमाग डिब्बा हो गया है। हम पहले बीफेरियंस थे। अब बीफ खाना भूल गए, इसलिए इंडिया बाकी देशों से पिछड़ गया। विदेशों में सभी बीफ खाते हैं, इसलिए उनका दिमाग तेजी से बढ़ रहा है।’ इलइया के बयान पर माहौल गरम हो गया और यूनिवर्सिटी में हंगामा हो गया।

और पढ़े -   कानून व्यवस्था को लेकर हाई कोर्ट ने लगाई योगी सरकार को फटकार, कहा - अपराधियों को करे नियंत्रित

दलित छात्र नेता अजय कुमार ने प्रो. कमल जायसवाल को दलित विरोधी बताया हैं, दलित विरोधी होने के कारण उन्होंने नॉनवेज पर बैन लगादिया। अजय कुमार ने उनके इस्तीफे का मांग की हैं । वहीं समाजवादी छात्र नेता अंकित सिंह बाबू ने कहा कि भोजन पर पाबंदी लगाना ठीक नहीं है। सबको अपनी पसंद से भोजन करने का अधिकार है।

और पढ़े -   योगी सरकार और आरएसएस देगी इफ्तार पार्टी, गाय के दूध से खुलवाया जाएगा रोजा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE