बेंगलुरु: करीब तीन बजे थे रात में जब बुश्रा ने दरवाजे पर जोरदार आवाज सुनी। अपार्टमेंट के जिस घर में वह अपने पति अफजल, जो कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर है, के साथ रहती है, दरवाजा खुला तो कुछ लोग घर के भीतर घुसे। उन्होंने अपने आप को दिल्ली पुलिस का कर्मी बताया। लेकिन, इन लोगों ने अपना परिचय पत्र नहीं दिखाया। बुश्रा का कहना है कि उन लोगों ने अफजल को ले जाने से पहले उस पर भी बंदूक तान दी और अफजल को हथकड़ी पहनाकर ले गए। उन लोगों का आरोप था कि अफजल के आईएसआईएस कथित तौर पर संबंध है।
बुश्रा का कहना है कि उन लोगों ने कोई परिचय नहीं दिया, कोई पेपर नहीं दिया, कोई तलाशी का वारंट नहीं दिखाया, कोई गिरफ्तारी का वारंट नहीं दिखाया। किस कारण से मेरे पति को ले गए, कुछ भी नहीं बताया। बुश्रा का दावा है कि उनका पति पूरी तरह से बेकसूर है।
उनका कहना है कि घर में घुसने के बाद उन लोगों ने उनसे कथित तौर पर घर में रखे हथियारों के बारे में पूछा। इस सवाल पर बुश्रा का कहना है कि वह आश्चर्यचकित रह गईं। बीती रात बेंगलुरु से चार लोगों को पुलिस ने कथित तौर पर आईएसआईएस से संबंधों के सिलसिले में गिरफ्तार किया है। यह सारी गिरफ्तारी एनआईए की आतंकियों पर रोक की मुहिम के तहत की गई है।bushra-terror-suspect-wife-650_650x400_51453469235
बता दें कि अफजल एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और उसकी पत्नी एचआर कंसलटेंट का काम करती हैं और यह काम वह घर से करती हैं।
कर्नाटक सरकार के गृहमंत्री जी परमेश्वर का कहना है कि एनआईए इन लोगों से पूछताछ कर रही है। गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस से पहले आईएसआईएस से सहानुभूति रखने और उससे जुड़े लोगों की तलाशी के एक अभियान के चलते ऐसा किया गया है। इस बार गणतंत्र दिवस पर फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद देश के मेहमान है। नवंबर माह में पेरिस में हुए आतंकी हमले में 130 लोगों के मारे जाने के बाद इस घटना की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें