35% reservation for women in government jobs

बिहार विधानसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विश्वास मत साबित कर दिया है. भारी हंगामे के बीच बहुमत परीक्षण में नीतीश के ने आसानी से 131 का आकड़ा हासिल कर लिया है. नीतीश की अगुआई वाले एनडीए गठबंधन को 122 का जादुई आंकड़ा हासिल करने की जरुरत थी.

बुधवार देर रात राज्यपाल को अपना इस्तीफ़ा सौपने के साथ उन्होंने 132 विधायकों के समर्थन की सूची राज्यपाल को सौंपी थी और सरकार बनाने का दावा पेश किया था. दरअसल नीतीश को बीजेपी विधायक आनंद भूषण पांडेय तबीयत खराब होने की वजह से इलाज के सिलसिले में दिल्ली में होने के कारण एक वोट कम मिला.

और पढ़े -   मराठवाड़ा में रोज दो से तीन किसान कर रहे आत्महत्या: सरकारी रिपोर्ट

इस दौरान आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव ने मुख्‍यमंत्री पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि आपने पूरे बिहार को धोखा दिया है. उन्‍होंने कहा कि आज बिहार का युवा उदास हो गया है. मुझे बहाना बनाकर फंसाया गया. आरजेडी ने जेडीयू का वजूद बचाया था. छवि बचाने के लिए ये सब किया किया गया. हम लोग इतने मूर्ख नहीं हैं कि समझ न सकें कि ये लोग क्या कर रहे हैं.

और पढ़े -   संभल: उप चुनाव में हार से दुखी बीजेपी नेता ने की खुदखुशी की कोशिश

तेजस्वी के जवाब में नीतीश ने कहा, ‘तेजस्वी की एक-एक बात का जवाब वक्त आने पर दूंगा. सबको आइना दिखाऊंगा, बाहर भी बोलूंगा और अंदर भी. सत्ता सेवा के लिए होती है, भोग के लिए नहीं.’ उन्होंने कहा, ‘सांप्रदायिकता की आड़ में भ्रष्टाचार का साथ नहीं देंगे. कोई हमें सेक्युलरिज्म का पाठ नहीं पढ़ाए. सेक्युलरिज्म का इस्तेमाल भ्रष्टाचार छिपाने के लिए नहीं होना चाहिए.’

और पढ़े -   AMU के बाब-ए-सैयद पर वंदे मातरम् के साथ दक्षिणपंथियों ने की गोलीबारी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE