मालदा  इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए बीजेपी पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार की जोरदार शुरुआत करना चाहती है, लेकिन बीजेपी की इस मंशा को शुरुआत में ही करारा झटका लगा है। बीते दिनों पार्टी सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी मालदा में रैली करके चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे। बाद में पार्टी की ओर से इस बात की पुष्टि भी की गई, लेकिन अब पुलिस ने गडकरी को रैली की इजाजत देने से इनकार कर दिया है।
nitin-gadkari-promise-to-complete-work

बीजेपी ने योजना बनाई थी कि मालदा में नितिन गडकरी की रैली से पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार शुरू किया जाएगा। इसके बाद 21 जनवरी को परगना में गृह मंत्री राजनाथ सिंह की रैली और 22 जनवरी को बर्द्धमान में केंद्रीय शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी की रैली प्रस्तावित थी।

इसके बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह द्वारा 25 जनवरी को हावड़ा में सभा सबोधित किए जाने की योजना बनाई गई थी, लेकिन अब पश्चिम बंगाल की पुलिस ने शुरुआत में ही बीजेपी को झटका दे दिया है। पुलिस ने रैली की अनुमति ही नहीं दी है।

सूत्र बताते हैं कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के नेतृत्व में कोलकाता में बीजेपी के प्रदेश नेताओं के साथ बैठक करके चुनाव और आंदोलन की रणनीति तैयार की गई थी। मालदा हाल ही में मुस्लिमों द्वारा किए गए उग्र प्रदर्शन की वजह से चर्चा में रहा।

इस मुद्दे को बीजेपी ने भुनाने की खासी कोशिश की थी, वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उनके राज्य में सब कुछ सामान्य है। 2015 में दिल्ली और बिहार का चुनाव हार चुकी बीजेपी के लिए पश्चिम बंगाल का चुनाव बहुत ही महत्वपूर्ण होगा।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें