लखनऊ,मुस्लिमो को सियासत में लांग टर्म रणनीति पर काम करने की जरूरत है।नयी पीढ़ी में मुखलिस  नेतृत्व क्षमता के विकास के लिए हमें दीर्घकालिक योजना बनानी पड़ेगी। नयी पीढ़ी के युवाओं पर ध्यान केंद्रित कर हम अगली पीढ़ी के लिए नयी लीडरशिप विकसित करने के लिये हमें आज ही से काम करना होगा। यह बातें लखनऊ में आये मुसलिम सियासी इत्तिहादी मुहिम के कन्वीनर इस्माईल बटलीवाला ने कहा.

indian leag

उनहोने ने कहा कि  इस वक़्त मुसलमानों को इत्तिहाद की सख्त ज़रुरत है मुसलमान अपने वोट के ताक़त को समझें जब तक वो अपने वोट को बिखरने से नहीं रोकेंगे उस वक़्त तक इन की तरक्की मुमकिन नहीं है.

और पढ़े -   नमाज के वक्त गोलीबारी करने पर डीएसपी मोहम्मद अयूब की भीड़ ने की पीट-पीटकर हत्या

शबरोज मोहम्मदी प्रवक्ता कमान मन एसोसिएशन ने कहा कि हिन्दुस्तान में मजहब के नाम पर राजनीति सब के लिये खतरनाक है और खास करके मुस्लिम समाज के लिए तो सब से जियादा  अगर आज का मुसलमान मजहबी समुह के रूप में सियासत को आगे बढ़ायेंगे और मजहब के नाम पर इकट्ठा होते हैं तोइससे साम्प्रदायिकता का खतरनाक रिजल्ट सामने आयेंगा ।क्योकि अगर सियासी मंच पर आकर आप अल्लाह अकबर का नारा दोगे तो जय श्री राम के नारे को भी आपको जस्टिफाई करना पड़ेगा। हां सियासत को मजहब से थोड़ा अलग करके चलाना होगा। यह बात सिर्फ मुसलमानों के सियासी क्रिया कलाप पर ही लागू नहीं होता बल्कि विभिन्न धर्मों के मानने वालो की सरजमीं होने के कारण सभी पर लागू होता है।नही तो आये दिन ये सियासत का टकराव लोगों के घरों को उजाड़ते रहेगा । रही बात मुसलमानों को अपने साथ हो रही न इन्साफी के संघर्ष की तो अभी मुसलमानों को सियासत के साथ साथ शिक्षा, स्वास्थ्य और तकनीक व विज्ञान के क्षेत्र में आगे आने की जरूरत है.।जिस दिन खुद से यह रास्ता हमवार करने के लिए मुसलिम निकलने की ठान लेगा उस दिन से इनकी सियासी हिस्सेदारी पर कोई कुण्डली नही मार सकता।Batli wala

मुसलिम सियासी इत्तिहादी मुहिम  कारवां अपने सफर के दूसरे पडाव पर इस्माईल बटलीवाला, इकबाल लोखंडवाला वाला के कयादत में लखनऊ पहुंचे  पीस पार्टी के डाक्टर अय्यूब  औरडाक्टर मन्ना , उलमा कौंसिल के मौलाना आमिर रशादी मदनी शहब, इंडियन नेशनल लीग के मोहम्मद सुलेमान साहब को मिलकर इत्तिहादी लेटर सौंपा गया। सभी लोगो ने एक आवाज़ होकर मौजूदा दौर में मुसलिम सियासी समाजी इत्तिहाद की एहमियत को एक अहम मसला मानते हुए इसको मंजूरी दी और इस कारे खैर के लिये अपने ताऊन की यकीन दहानी
कराई.

और पढ़े -   जेवर रेपकांड में यूपी पुलिस के हाथ खाली, सीएम योगी के दखल के बावजूद नहीं हुई कोई गिरफ्तारी

 

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE