madhya-pradesh-women-beef_650x400_41469585268जहाँ मरी गाय की खाल उतारने को लेकर दलितों की पिटाई से देशभर में दलितों का जनाक्रोश चल रहा है वहीँ ठीक उसी समय मंदसौर में गौमांस रखने का आरोप लगाकर मुस्लिम महिलाओं की सरे-आम पिटाई की गयी है जब की पुलिस का कहना है की झोले में गौमांस नही था बल्कि भैंसे का मीट था. जिन मुस्लिम महिलाओं की पिटाई की गयी उनमे से एक महिला के हाथ में पहले से ही प्लास्टर बंधा हुआ था.

इतना कुछ हो जाने के बाद मंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है की यह घटना मात्र जनाक्रोश है मंत्री ने इस पूरे मामले में जांच की बात करते हुए कहा कि यह छोटी धक्कामुक्की हो सकती है। ऐसी घटना एक स्वाभाविक जनाक्रोश था, इंटेशनली नहीं किया गया। हालांकि उन्होंने बयान के साथ में यह भी कहा कि लोगों को कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए।

मंदसौर के टीआई शहर कोतवाली, एमपी सिंह परिहार ने कहा कि महिलाओं के पास 30 किलो मांस पाया गया, जो जांच में बफेलो का पाया गया। इस मामले में, धारा 4,5,6 (गोवंश वध अधिनियम) के तहत 2 गिरफ्तारी हुई हैं।

पुलिस ने इन महिलाओं को पीटने वालों के खिलाफ अब तक कोई एक्शन नहीं लिया गया है, जिसके बाद पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं। महिलाओं की पिटाई का आरोप हिंदू दल के कार्यकर्ताओं पर लगा है। ये मामला मंगलवार का है। महिलाओं की पिटाई पुलिस की मौजूदगी में हुई, बाद में पुलिस ने इन महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया।

आरोप है कि दो महिलाएं एक झोले में करीब 30 किलो मांस लेकर डेमो ट्रेन से मंदसौर स्टेश पर उतरी ही थीं वहीं हिंदू दल के कार्यकर्ताओं ने इन्हें घेर लिया और महिला कार्यकर्ताओं ने इनकी पिटाई शुरू कर दी। पीड़ित महिलाओं में से एक के हाथ में पहले से ही प्लास्टर चढ़ा था, इसके बावजूद उसकी पिटाई की गई।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें