भोपाल: मध्यप्रदेश में 12 जनवरी को युवा दिवस पर सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम का मुस्लिम संगठनों ने विरोध किया है. उन्होंने सूर्य नमस्कार को शरीयत के खिलाफ बताया है.

मुस्लिम संगठन ने सूर्य नमस्कार को बताया शरीयत के खिलाफ, मुस्लिमों से दूर रहने की अपील

राजधानी भोपाल में मोती मस्जिद में मजलिसे-शूरा की बैठक के बाद शहर काजी मुश्ताक अहमद नदवी ने मुस्लमानों से सूर्य नमस्कार से दूर रहने की अपील की हैं. उन्होंने कहा कि इस्लाम सिर्फ अल्लाह के आगे ही सजदा करने की अनुमति देता है. सूर्य भी ईश्वर की बनाई हुई एक देन है और इस वजह से शरीयत के मुताबिक सूर्य के सामने सिर नहीं झुकाया जा सकता.

मजलिसे-शूरा मुस्लिमों का एक संगठन है, जिसकी कमान शहर काजी के हाथों में होती हैं. इस संंगठन के फैसले का पूरे प्रदेश में खासा असर रहता है.

क्या है सरकार का आदेश

राज्य शासन के निर्देशानुसार स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में सभी शैक्षणिक संस्थाओं, महाविद्यालयों में 12 जनवरी को सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. हालांकि, इस कार्यक्रम में शामिल होना ऐच्छिक होगा.

रेडियो पर होगा प्रसारण

सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम के सीधे प्रसारण की व्यवस्था रेडियों के सभी प्राईमरी चैनल एवं विविध भारती से होगी. मुख्यमंत्री का प्री-रिकार्डेड संदेश कार्यक्रम प्रसारित किया जायेगा.

कक्षा 5 वीं से महाविद्यालय तक के छात्र होंगे शामिल

इस आयोजन में कक्षा 5 वीं से 12 वीं तक के तथा महाविद्यालयीन विद्यार्थी शामिल होंगे. इसमें किसी भी संस्था अथवा छात्र/छात्रा का भाग लेना पूर्णतः स्वैच्छिक होगा और इसके लिए किसी तरह की कोई बाध्यता नहीं होगी. साभार: न्यूज़ 18


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें