देवा शरीफ में हाजी वारिस की दरगाह पर जियारत के लिए जा रहे एक परिवार का उन्नाव जिले के हसनगंज पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले अलियारपुर पिलखाना गांव के करीब डिवाइडर पर कार पलटने से एक्सीडेंट हो गया. इस हादसे में एक महिला की मौत हो गई. जबकि चार अन्य गंभीर घायल हो गए.

इस दौरान सडक पर पूरा परिवार घायल अवस्था में तड़पता रहा लेकिन उनकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया. लोग मदद करने के बजाय आपातकालीन सेवाओं से सम्पर्क करते रहे. हालांकि उसी रास्ते से बीजेपी के विधायक विपिन कुमार डेविड गुजर रहे थे. उन्होंने अपनी कार रोकी और उन्हें अस्पताल पहुँचाया. घयलों की पहचान वकार वारिस, अनिश, प्रवीन बानो, शहजाद घायल हो गए है.

और पढ़े -   बिहार: 700 करोड़ के सृजन घोटाला में आया बीजेपी नेता विपिन शर्मा का नाम

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक विधायक विपिन कुमार डेविड ने कहा कि वह हैरान करने वाला था कि हादसे के बाद लोग पीड़ितों के पास खड़े थे, लेकिन कोई भी उनकी मदद के लिए आगे नहीं आया. मदद के बजाए वह लोग आपातकालीन सेवाओं को फोन लगा रहे थे.

उन्होंने कहा, “मैंने अपने गार्ड और ड्राइवर के साथ में था, मैंने देखते ही गाड़ी को रोड के साइड में लगवाई. मैंने घायलों को कुछ कपड़ों के टुकड़ों से ढका और उन्हें पानी पिलाया ताकि वह होश में आ सकेहमने घायलों को एंबुलेंस के अंदर डाला और गाड़ी को एस्कॉर्ट (कवर) करते गुए लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर पहुंचे.

और पढ़े -   योगी सरकार की बड़ी फिर से मुसीबत, प्रदेश भर के शिक्षामित्रों का लखनऊ में प्रदर्शन

विधायक ने कहा, “मेरे लिए वह सिर्फ इंसान थे. यह मायने नहीं रखता कि वह हिंदू या मुसलमान थे. एक इंसान होने के नाते उनकी जान बचाना मेरा कर्तव्य था. मैं क्या, मेरी जगह कोई भी होता तो इस परिस्थिति में यही करता.”


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE