‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ से बातचीत करते 43 साल के पीड़ित मोहम्मद हुसैन ने बताया कि वो अपनी पत्नी के साथ हैदराबाद किसी रिश्तेदार के घर पर गए थे, वहां से अपने घर वापसी के दौरान हरदा में उनके बैग की जांच की गई और विरोध करने पर उनके साथ मारपीट की गई।

मध्य प्रदेश के हरदा जिले के खिरकिया स्टेशन पर एक मुस्लिम दंपति के साथ इसलिए मारपीट की गई, क्‍योंकि बैग में बीफ होने का शक था। बताया जा रहा है कि जिन लोगों ने मारपीट की, वे गौरक्षा समिति के सदस्य हैं। इस संबंध में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनके नाम हेमंत और संतोष हैं। ‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना बुधवार को कुशीनगर एक्सप्रेस में हुई। पुलिस के मुताबिक, बीफ होने के शक में हिंदू कायर्कर्ताओं ने मुस्लिम दंपति समेत कई लोगों की तलाशी ली थी।

जिस समय यह घटना हुई, उस वक्‍त ट्रेन खिरकिया स्टेशन पर थी। पुलिस ने बताया कि गौरक्षा समिति के कार्यकर्ता मुस्लिम के बैग में गोमांस होने का दावा कर रहे थे, लेकिन जांच में इनके पास निकला मांस का टुकड़ा ‘भैंस’ का मांस निकला। ‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ से बातचीत करते 43 साल के पीड़ित मोहम्मद हुसैन ने बताया कि वह पत्नी के साथ हैदराबाद अपने रिश्तेदार के यहां से घर लौट रहे थे। इसी दौरान हरदा जिले के खिरकिया स्टेशन पर उनके बैग की जांच की गई और विरोध करने पर उनके साथ मारपीट की गई। पीड़ित ने बताया, इस दौरान उन लोगों ने मेरी पत्नी को धक्का भी दिया। बाद में पुलिस ने मेरी पत्नी को उन लोगों से बचाया।

आपको बता दें कि झगड़े के बाद मुस्लिम दंपति ने भी अपने कुछ लोगों स्‍टेशन पर बुला लिया था, जिसके बाद काफी हंगामा हो गया। इस केस में मुस्लिम दंपति से जुड़े 9 लोगों को भी अरेस्ट किया गया था। इन सभी को बाद में बेल मिल गई। Read Also: अखलाक की बेटी ने मैजिस्‍ट्रेट के सामने बयां किया दर्द, पुलिस की चार्जशीट में एक नाबालिग भी  खिरकिया पुलिस के एएसआई के. रिछारिया ने कहा कि लोकल लैब में बैग की जांच कराई गई। इसमें साबित हुआ की बैग में भैंस का मीट था।

इटरासी के आरपीएफ इन्चार्ज डीके. जोशी ने बताया कि हेमंत और संतोष को जेल भेज दिया गया है। पांच लोगों की तलाश जारी है। हरदा से कांग्रेस विधायक रामकिशोर डोगने ने कहा कि बजरंग दल और वीएचपी के दबाव की वजह से पुलिस ने मुस्लिम दंपति के रिश्‍तेदारों के खिलाफ केस दर्ज किया है। डोगने ने कहा, ‘पहले तो मुस्लिम दंपति को परेशान किया गया। इसके बाद उनके ही रिश्तेदारों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया।’

आपको बता दें कि पिछले साल उत्‍तर प्रदेश के दादरी में अखलाक नाम के शख्‍स की भीड़ ने उसके घर में घुसकर सिर्फ इसलिए हत्‍या कर दी थी, क्‍योंकि उसके घर में गौमांस का शक था। इस घटना को लेकर पूरे देश में बवाल मचा था। Read Also: अखलाक के घर मटन था बीफ नहीं, दो महीने पहले ही आ गई थी ये रिपोर्ट, अखिलेश सरकार अब बता रही है साभार: जनसत्ता


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें