vik

मंबई- धर्म के नाम पर मुस्लिम युवक को फ्लैट बेचे जाने का विरोध करने वाले ग्यारह लोगो में से हाउसिंग सोसायटी के नौ सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया. हालांकि उन्हें जमानत मिल गई.

मीडिया में प्रकाशित खबर के अनुसार हाउसिंग सोसायटी ने एक प्रस्ताव पास किया था, जिसके तहत मुस्लिम के घर खरीदने पर रोक लगाई गई थी तथा इसको लेकर एक प्रस्ताव बनाया था जिस पर 11 लोगो ने हस्ताक्षर किये थे. वहीँ प्रस्ताव को लेकर पुलिस ने इन सभी 11 लोगो के खिलाफ सेक्शन 295 ए (धर्म की तौहीन करने के इरादे से काम करना) और सेक्शन 298 (धार्मिक भावना भड़काने) के तहत मामला दर्ज किया था.

दरअसल हैप्पी जीवन हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले कांताबेन पटेल (55) और जिग्नेश पटेल (32) अपने फ्लैट को विकार अहमद खान को 47 लाख रुपये में बेचने पर तैयार थे. इसी दौरान उन्हें हाउसिंग कमेटी से पारित प्रस्ताव दिया गया जिसमें कहा गया कि मुस्लिम घर नहीं खरीद सकते. विरोध करने वाले ये सभी लोग गुजराती थे.

पुलिस निरीक्षक अनिल पाटिल के मुताबिक सोसायटी के सदस्यों ने धर्म के नाम पर एक शख्स को घर बेचने देने से इनकार कर धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाई है. खरीदार विकार खान ने भी सोसायटी पर एनओसी देने से इनकार करने का आरोप लगाया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें