modi

उत्तर प्रदेश में महोबा के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चन्देल के गोद लिये पिपरामाफ गांव के लोगों ने  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सामूहिक आत्महत्या की अनुमति मांगी है.

सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल ने महोबा के पिपरामाफ गांव को गोद तो ले लिया पर महीनों बीतने के बाद भी गांव की समस्याएं दूर नहीं हो सकी. जिला प्रशासन, सांसद के साथ ही अन्य जनप्रतिनिधियों से दर्द बताने के बाद भी कुछ न होता देखकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र भेजकर सामूहिक रूप से खुदकुशी करने की इजाजत मांगी हैं.

ग्राम प्रधान घसीटा अनुरागी ने बताया कि संकटमोचन पठारी मजरा के 24 ग्रामीणों ने अपने हस्ताक्षर युक्त जो पत्र प्रधानमंत्री श्री नरेन्द मोदी को भेजा है उसमें गांव की बद से बदतर हालत होने की बात कहते हुये इच्छा मृत्यु की अनुमति देने का आग्रह किया गया है. उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित संकटमोचन पठारी मजरे में पिपरामाफ, उदयपुरा, कंचनपुरा तथा संकटमोचन गांव भी शामिल हैं.

उन्होंने बताया कि दो साल पहले केन्द्र सरकार की योजना के तहत सांसद द्वारा गांव को गोद लेने से हालत सुधरने की उम्मीद बंधी थी, लेकिन इससे यहां विकास तो दूर विनाश का नया अध्याय शुरू हो गया।गरीबी, भुखमरी एवं कर्ज से किसानों की आत्महत्याओं के कारण बीते दिनों राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में रहा बुन्देलखण्ड अब कबरई विकास खण्ड के पिपरामाफ की वजह से चर्चा में है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

Related Posts