बिहार के मधेपुरा से मोदी हटाओ देश बचाओं आंदोलन की शुरुआत हो चुकी है. मंडल सेना के तत्वाधान में मंडल मसीहा वीपी सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए ‘मोदी हटाओ-देश बचाओ’ आंदोलन की शुरूआत की गई. इस आंदोलन के चलते पीएम मोदी के पुतले जलाए जा रहे है.

विरोध कर रही मंडल सेना का कहना है कि देश में एक तरफ किसानों की आत्महत्याएं लगातार हो रही है, साथ उन्हें गोलियां मारी जा रही है. सरहद पर जवान मारे जा रहें हैं, बैंकिंग में मनमाने नियमों के तहत जनता को लूटा जा रहा है, महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है. वहीं दूसरी ओर देश में इमरजेंसी जैसे हालात हैं। लालू प्रसाद, मायावती, अखिलेश मुलायम, ममता बनर्जी, करूणानिधि पर हमला है, विपक्ष को डराया और दबाया जा रहा है.

और पढ़े -   मदरसे के पानी में जहर मिलाने की घटना थी पूर्व नियोजित: सलमा अंसारी

बयाना में कहा गया कि उच्च शिक्षा का निजीकरण करने के लिए मोदी सरकार यूनिवर्सिटी और कॉलेज में सीटें कम कर रही है. दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यक छात्रों का दाखिला कम से कम करने के रोज नए कदम लिए जा रहें है. सरकारी नौकरियां कम की जा रही है. कॉर्पोरेट का अरबों लोन माफ़ है पर किसानों के लिए केंद्र मंत्री इसे फैशन बता रहे हैं.

और पढ़े -   सिमी सदस्यों के एनकाउंटर में मिली सभी पुलिस अधिकारियों को क्लीन चीट

मोदी सरकार इस देश को लूटने के लिए, इसे अंबानी और अडानी का गुलाम बना रही है. जोकि पीएम मोदी की विदेशी दौरों का खर्चा उठाते हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE