जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर के आवास पर घरेलू सहायिका का काम करने वाली 17 साल की लड़की को विश्वविद्यालय परिसर के बाहर से कथित तौर पर अगवा कर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर के आवास पर घरेलू सहायिका का काम करने वाली 17 साल की लड़की को विश्वविद्यालय परिसर के बाहर से कथित तौर पर अगवा कर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) प्रेम नाथ ने बताया कि घटना में शामिल पांच लोगों में से चार को हिरासत में ले लिया गया है।

पुलिस के अनुसार सोमवार शाम करीब साढ़े चार बजे जब लड़की विश्वविद्यालय के बाहर जूते-चप्पल के एक स्टोर पर गई तो वहां एक लड़के ने उसे कार में बैठने के लिए मनाया। लड़की उसे पहले से जानती थी। लड़की जब कार में बैठी तो उसने देखा कि अंदर कुछ युवक पहले से मौजूद हैं। युवकों ने लड़की को कथित रूप से नशीला पेय पदार्थ पिला दिया और जब वह सो गई तो मुनिरका में एक किराये के कमरे में उसके साथ कथित तौर पर बलात्कार किया।

बाद में लड़की को जब होश आया तो उसे पहले से जानने वाले लड़के ने स्कूटर पर बिठाकर उसे विश्वविद्यालय परिसर छोड़ दिया। बाद में लड़की के पेट में दर्द हुआ और उसे अस्पताल ले जाया गया। वहां बलात्कार की पुष्टि हुई। इस घटना के विरोध में जेएनयू के छात्रों और शिक्षकों के एक समूह ने वसंत कुंज थाने के समक्ष प्रदर्शन किया।

जेएनयू छात्र संघ के संयुक्त सचिव सौरभ शर्मा ने बताया, ‘‘ यह घटना दिखाती है कि हमने 16 दिसंबर की सामूहिक बलात्कार की घटना से कुछ नहीं सीखा। हम आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हैं और कल (बुधवार) वाइस चांसलर के समक्ष भी यह मुद्दा उठाएंगे।’’

प्रेमनाथ ने बताया, ‘‘ आईपीसी और पोक्सो कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। अभी तक गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों से पूछताछ की जा रही है तथा एक टीम पांचवें आरोपी की तलाश में जुटी है।’’ साभार:जनसत्ता


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें