akhilesh

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को अपने दो कैबिनेट मंत्रियों गायत्री प्रजापति और राजकिशोर सिंह को बर्खास्त कर दिया. दोनों को भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह से बर्खास्त किया गया हैं.

हाईकोर्ट ने खनन घोटाले मामले में सीबीआई जांच के आदेश देने के बाद बर्खास्तगी का फैसला लेते हुए राज्यपाल राम नाईक को लेटर भेज दिया हैं. गायत्री प्रसाद प्रजापति कैबिनेट मंत्री के रूप में भूतत्व एवं खनिकर्म मंत्रालय संभाल रहे थे. गायत्री प्रजापति को सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव का करीबी भी माना जाता है.

और पढ़े -   रमजान की आमद पर सिख और हिंदू भाइयों का तोहफा, मुस्लिमों को बना कर दी मस्जिद

दरअसल यूपी में अवैध खनन की सीबीआई जांच रुकवाने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट की बड़ी बेंच में पहुंची अखिलेश सरकार को तगड़ा झटका लगा था. हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच पर रोक लगाने से इन्कार करते हुए राज्य सरकार से सवाल पूछा था कि अगर खनन में कोई गड़बड़ी नहीं है तो सरकार जांच से क्यों बचना चाहती है.

अखिलेश यादव का यह फैसला चुनाव में अपनी सरकार की छवि को बेहतर दिखाने का मकसद माना जा रहा हैं. भ्रष्टाचार के कारण अखिलेश सरकार पहले से ही विपक्ष के निशाने पर हैं.

और पढ़े -   हिंसा के बाद योगी सरकार आई हरकत में, आला आधिकारी सस्पेंड, धारा 144 के साथ इंटरनेट पर रोक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE